स्मृति कविता सम्मान से सम्मानित हुईं छात्राएं - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, September 14, 2022

स्मृति कविता सम्मान से सम्मानित हुईं छात्राएं

चित्रकूटधाम मंडलायुक्त आरपी सिंह ने किया सम्मानित 

राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में हुआ आयोजन 

बांदा, के एस दुबे । महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आयोजित हिंदी दिवस समारोह में मंडलायुक्त चित्रकूटधाम मंडल आरपी सिंह ने मेघा मिश्रा और प्रियांशी रैकवार को चंद्रपाल कश्यप स्मृति कविता सम्मान 2022 प्रदान किया। 2020 से शुरू किया यह पुरस्कार महिला डिग्री कालेज के हिंदी विभाग द्वारा कविता और साहित्य में अभिरुचि रखने वाली छात्राओं को प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार की 2200 रुपए की धनराशि की व्यवस्था   स्वर्गीय चंद्रपाल कश्यप के पुत्र प्रारब्ध कश्यप द्वारा की जाती है। 

समारोह को संबोधित करते अतिथि

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आरपी सिंह ने अपने वक्तव्य में छात्राओं को बधाई देते हुए इस बात पर बल दिया कि हिंदी राष्ट्रीय एकता और अखंडता का सेतु है और उसे मजबूत बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने हिंदी के साथ अन्य भाषाओं से सामंजस्य की बात रेखांकित करते हुए इस बात पर बल दिया कि भले हम अंग्रेजी में ज्ञान प्राप्त करें, लेकिन हमारा दिल हिंदी वाला होना चाहिए। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे हिंदी के वरिष्ठ कवि नरेंद्र पुंडरीक ने अपनी कविताओं के माध्यम से कवि की समाज में भूमिका को रेखांकित किया। बांदा डीसीडीएफ के अध्यक्ष सुधीर सिंह ने विशिष्ट अतिथि के रूप में बोलते हुए हिंदी के वर्तमान और
मौजूद लोग

भविष्य की चुनौतियों और संभावनाओं  को रेखांकित किया। सीआरपीएफ में असिस्टेंट कमांडेंट विकास कुमार सिंह ने अपनी कविताएं और विचार साझा किए। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ दीपाली गुप्ता ने कहा कि हिंदी भारतीय जनमानस की भाषा है और आज हिंदी को एक नई वैश्विक पहचान मिली है। हिंदी विभाग की सहायक प्रोफेसर डा. अंकिता तिवारी ने हिंदी को किसान, मजदूर और संघर्षशील चेतना की भाषा कहा। उन्होंने कहा कि हिंदी हमारी भारतीय अस्मिता की प्रतीक है जिसमें किसी भाषा का विरोध नहीं, सभी भाषाओं का स्वीकार है। कार्यक्रम का संचालन करते हुए हिंदी विभाग के अध्यक्ष डा. शशिभूषण मिश्र ने स्वतंत्रता आंदोलन में हिंदी भाषा और साहित्य के योगदान को उल्लेखनीय बताते हुए रामनरेश त्रिपाठी की कविता का पाठ किया। उक्त अवसर पर डा. सबीहा रहमानी, डा. जितेंद्र कुमार, डा. जय कुमार चौरसिया, डा. माया वर्मा, डा. जयप्रकाश सिंह, डा. सपना सिंह, डा. ज्योति मिश्रा, डा. विनोद सिंह चंदेल, डा. मोहम्मद अफजल, डा. सुधा तिवारी, डा. अस्तुति वर्मा, डा. नीतू सिंह आदि शिक्षक मौजूद रहे। हिंदी विभाग की छात्राएं बड़ी संख्या में मौजूद रहीं। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages