पुस्तकालय में हो रहे आधुनिक परिवेश से सूचना प्रचार एवं प्रसार में नवाचार को मिला प्रोत्साहन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, September 19, 2022

पुस्तकालय में हो रहे आधुनिक परिवेश से सूचना प्रचार एवं प्रसार में नवाचार को मिला प्रोत्साहन

रिपोर्ट देवेश प्रताप सिंह राठौर

बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञानं विभाग में बदलते परिवेश में ज्ञान और सूचना प्रबंधन के लिए तकनीकी प्रवृत्तियों में क्षमता निर्माण पर राष्ट्रीय कार्यशाला  अंतिम दिन के प्रथम तकनीकी सत्र में मंगलोर विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ उमेशा नाइक ने प्रतिभागियों को में प्रयोग के नए नवाचार से अवगत कराया एवं प्रतिभागियों को कंप्यूटर के माधयम से अभ्यास भी कराया जिससे प्रतिभागियों में सीखने में रुचि बड़ी । द्वितीय सत्र में रानी लक्ष्मीबाई केंद्रीय कृषि विश्विद्यालय के पुस्तकालयाध्यक्ष डॉ एस एस कुशवाह ने ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के बारे में बताया कि किस तरह किसी वेबसाइट के मुख्यपृष्ठ को आधुनिक और आकर्षक बना सकते है। कार्यशाला के अंतिम चरण में क्षेत्रीय शिक्षा संस्थान, भोपाल के पुस्तकालयाध्यक्ष डॉ पी के त्रिपाठी ने अपने व्याख्यान में बताया कि किस प्रकार किसी सूचना को कई अलग अलग तरीके से प्राप्त किया जा सकता है।  


 इसी कार्यशाला में देश के विभिन्न प्रांतो से आये हिमाचल प्रदेश से डॉ  विनय शंकर महाजन और पंजाब से  अभिषेक यादव आदि ने   इस कार्यशाला में चयनित  विषय की उपयोगिता को सराहा। अनेक प्रतिभागियों ने विभागाध्यक्ष डॉ ऋतू सिंह से भविष्य में पुस्तकालय नवाचार विषयो पर इसी तरह की कार्यशाला एवं सेमिनार का आयोजन करने का सुझाव दिया।


कार्यकम के समापन अवसर पर प्रो वीपी खरे एवं आई आई सी विभाग के संयोजक प्रो एम एम सिंह ने इस कार्यशाला में आये विषय विशेषज्ञों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया तथा विभागाध्यक्षा डॉ ऋतू सिंह ने सभी प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र प्रदान किये।  कार्यक्रम का संचालन अस्सिस्टेंट प्रोफेसर डॉ ज्योति गुप्ता एवं डॉ रूपेंद्र सिंह ने किया।  इस अवसर पर विभाग के शोध विद्यार्थी अभिनव शेषा और गौरव घनघोरिया तथा कार्यालय कर्मचारी ज्ञानेंद्र स्वर्णकार और राजकुमार उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages