प्रकृति संवारने में जीव-जंतुओं का होता है बड़ा योगदान-के के सिंह - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, September 14, 2022

प्रकृति संवारने में जीव-जंतुओं का होता है बड़ा योगदान-के के सिंह

अब यहां भी सुनाई पड़ेगी चीते की दहाड़

जंगलों में जीव-जंतुओं का रहना बहुत जरूरी - दीक्षित

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । देशभर में लुप्त प्राय चीता प्रजाति के वन्य जीवों के महत्व व उनके संरक्षण के प्रति लोगों में जन जागरूकता विकसित करने के उद्देश्य से संत थॉमस स्कूल में बुधवार को परिचर्चा गोष्ठी आयोजित की गई। जिसमें मुख्य अतिथि के रुप में झांसी चित्रकूट धाम के मुख्य वन संरक्षक के के सिंह रहे।उन्होंने कहा कि हमारे भारत देश में चीता प्रजाति के वन्य जीव विलुप्त हो गए हैं,इन्हें पुनः संरक्षित और विकसित करने का भारत सरकार ने निर्णय लिया है।इसी क्रम में पूरे देश में जन जागरूकता परिचर्चा गोष्ठी आयोजित की जा रही हैं। इसी के चलते संत थॉमस स्कूल गोष्ठी आयोजित की गई है। कहा कि लुप्त प्राय चीता  प्रजाति को अब फिर से संरक्षित किया जाएगा।इसके लिए नामीबिया देश से 4 - 4 नरमादा चीता प्रजाति के वन्य जीव भारत लाए जाएंगे।प्रकृति के संवारने में जीव जंतुओं का भी बहुत बड़ा योगदान होता है।प्रकृति ही जीवन है जब वन्य जीव और वनस्पतियां पेड़ पौधे जीवित रहेंगे, तभी मानव का जीवन सुरक्षित रह सकता है ।उन्होंने कहा कि इटावा लायन सफारी की स्थापना में


उनकी प्रमुख भूमिका रही है।वहां 8 लायन लाए गए थे अब इस समय 24 लाइन वहां पर हो गए हैं। बताया कि यह बहुत ही सफल प्रोजेक्ट रहा है। जनपद चित्रकूट में भी बहुत जल्द रानीपुर वन्य जीव बिहार को टाइगर रिजर्व के रूप में विकसित किया जाएगा। जैसे ही कैबिनेट में इसकी मंजूरी हो जाएगी,यह विश्व के मानचित्र में दर्ज हो जाएगा ।अब यहां भी चीते की दहाड़ सुनाई पड़ेगी। प्रभागीय वन अधिकारी आरके दीक्षित ने कहा की जंगलों में वन्यजीवों का रहना बहुत जरूरी है, जिस प्रकार घरों में मानव और परिवार रहता है तो घर अच्छे होते हैं। इसी तरह जंगलों में जब वनस्पतियां और वन्य जीव होते हैं तो जंगल भी अच्छे लगते हैं। हम सभी को वन्यजीवों के संरक्षण पर चिंता करनी होगी। संत थॉमस स्कूल के प्राचार्य डेनिश ने कहा यह वन्य गोष्ठी हमारे छात्र छात्राओं और शिक्षकों के लिए भी बहुत उपयोगी होगी।सभी लोग वन्यजीवों और जंगलों के संरक्षण के प्रति जागरूक होंगे। इसके लिए उन्होंने प्रभागीय वन अधिकारी और मुख्य वन संरक्षक को धन्यवाद ज्ञापित किया।गोष्टी में क्षेत्रीय वन अधिकारी नफीस खान, उप क्षेत्रीय वन अधिकारी हरि शंकर सिंह,वन दरोगा हूब लाल सिंह, सुरेंद्र कुमार,अर्जुन प्रसाद,वनरक्षक सत्नेश कुमार, पवन कुमार,समाजसेवी शंकर यादव व सभी शिक्षक कर्मचारी छात्र-छात्राएं शामिल रहे।अंत में सिस्टर सीजी ने सभी का आभार व्यक्त किया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages