नम आंखों के साथ गणेश प्रतिमाओं का हुआ विसर्जन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, September 9, 2022

नम आंखों के साथ गणेश प्रतिमाओं का हुआ विसर्जन

जमकर उड़ा गुलाल, डीजे की धुन पर जमकर थिरके श्रद्धालु 

सड़कों पर गणपति भक्तों का हुजूम, केन घाट पर रही भीड़ 

बांदा, के एस दुबे । प्रथम पूज्य गणपति की प्रतिमाओं का विसर्जन जुलूस गाजे बाजे और धूमधड़ाके के साथ निकाला गया। विसर्जन जुलूस में शामिल गणपति भक्त रंग और अबीर गुलाल उड़ाते हुए डीजे की धुन पर थिरकते चल रहे थे। तकरीबन आधा सैकड़ा से ज्यादा गणपति प्रतिमाओं का केन नदी के विसर्जन घाट पर ले जाया गया। इसके बाद नाव में रखकर गणपति प्रतिमाओं को केन नदी के जल में विसर्जित किया गया। तमाम गणेश भक्त विसर्जन के दौरान फफक कर रो पड़े। सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से नगर कोतवाली समेत कई थानों का पुलिस फोर्स तैनात किया गया था। इसके साथ ही अंधेरा होने पर इमरजेंसी लाइट व्यवस्था भी की गई थी। 

विसर्जन जुलूस में नृत्य करतीं महिलाएं

शुक्रवार को गाजे-बाजे के साथ गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। दोपहर से गणेश विमानों का शहर भ्रमण शुरू हो गया था। जगह-जगह पर श्रद्धालुओं ने गणपति प्रतिमाओं की आरती उतारी और प्रसाद का वितरण किया। विसर्जन जुलूस में शामिल गणेश भक्त रंग और अबीर गुलाल उड़ाते हुए चल रहे थे। इसके साथ ही डीजे और ढोल नगाड़े की धुन पर गणेश भक्त जमकर थिरके। रह-रहकर गणपति का गगनभेदी जयकारा लगाया जा रहा था। केंद्रीय पूजा कमेटी के पदाधिकारियों के मुताबिक देर शाम तक आधा सैकड़ा से ज्यादा गणपति प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। विसर्जन जुलूस के दौरान रास्ते में जगह-जगह पर सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से पुलिस फोर्स तैनात रही। इधर, गणपति भक्तों ने रास्ते में जुलूस में शामिल भक्तों का स्वागत सत्कार करने के लिए पंडाल लगाया था। वहां पर गणपति भक्तों को जलपान कराया गया। गौरतलब हो कि शहर में तकरीबन दो दर्जन से ज्यादा गणेश प्रतिमाओं की स्थापना की गई थी। तमाम पंडाल बनाए गए थे। इसके साथ ही घरों में भी श्रद्धालुओं ने गणेश प्रतिमाओं की स्थापना भक्तों ने की थी। विसर्जन जुलूस में महिलाओं की संख्या में कम नहीं रहीं। महिलाएं भी गणपति विसर्जन जुलूस के दौरान डीजे और ढोल नगाड़े की धुन पर जमकर थिरकीं और गुलाल उड़ाया। रह-रहकर गणपति के गगनभेदी जयकारे लगाए जाते रहे। 

गणेश प्रतिमाओं को केन नदी ले जाते गणपति भक्त

ई-रिक्शा से भी लाए गए गणपति 

बांदा। शहर में विभिन्न स्थानों पर गणपति प्रतिमाओं की स्थापना की गई थी। नवरात्र पर्व की तरह ही अब गणपति महोत्सव मनाए जाने का सिलसिला बुंदेलखंड में तेजी के साथ शुरू हो गया है। प्रति वर्ष गणपति पंडाल सजाने वालों की संख्या में इजाफा हो रहा है। अबकी बार दो दर्जन से ज्यादा प्रतिमाएं स्थापित की गई थीं। शुक्रवार को गणपति विसर्जन के दौरान बड़ी प्रतिमाओं को ट्रैक्टर-ट्राली में लाया गया। जबकि छोटी गणपति प्रतिमाओं को लोडर, हथठेलिया और ई-रिक्शा से केन नदी विसर्जन घाट लाया गया और नम आंखों से गणपति प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। 

केन नदी के विसर्जन घाट में पहले ही रोक दिए गए वाहन

विसर्जन के समय फफक कर रो पड़े गणपति भक्त 

बांदा। सप्ताह पर गणपति के चरणों में माथा टेककर आरती उतारने और पूजा-अर्चना करने वाले गणपति भक्तों का मन विसर्जन के दिन भारी नजर आया। सुबह से ही विसर्जन की तैयारियां की जा रही थीं। वाहनों में गणपति प्रतिमाओं को केन नदी तक ले जाया गया और वहां पर जब विसर्जन का वक्त आया तो तमाम गणपति भक्त फफक कर रो पड़े। इस दौरान गणेश भक्तों ने नम आंखों के बीच फफक कर रो रहे गणपति भक्तों को संभाला और गगनभेदी जयघोष लगाया, गणपति बप्पा मोरया, अगले बरस तू जल्दी आ। 

गणपति विमानो की आरती उतारने को खड़े भाजपा पिछड़ा वर्ग उपाध्यक्ष व अन्य

सुरक्षा के लिहाज से तैनात रही पुलिस फोर्स

बांदा। गणपति प्रतिमाओं के विसर्जन को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से सतर्क नजर आया। शहर के विभिन्न चौराहों पर जहां पुलिस की तैनाती की गई थी, वहीं केन नदी विसर्जन घाट पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। शहर कोतवाली के साथ ही कई थानों का पुलिस फोर्स विसर्जन स्थल पर तैनात किया गया था। विसर्जन स्थल पर उमड़े गणेश भक्तों के लिहाज से सुरक्षा के लिहाज से पुलिस तैनात की गई थी। पुलिस की योजना के मुताबिक ही गणेश प्रतिमाओं को केन नदी तक लाया गया और नाव के माध्यम से केन के पानी में विसर्जित किया गया। 

गणेश प्रतिमाओं की उतारी गई आरती 

बांदा। शुक्रवार को गूलरनाका बाजार के पास भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिला उपाध्यक्ष नवीन प्रकाश गुप्ता नीतू द्वारा श्री गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के मौके पर झांकियों का थाल देकर आरती की गई और प्रसाद का वितरण किया गया। इसके साथ ही विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। इस दौरान शिवम सविता, देवेश कुमार, पारस गुप्ता, प्रमोद कुमार जैन, गुप्ता सेठ गंगाराम सविता समेत दर्जनों की संख्या में गणपति भक्त मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages