डीएम ने मेडिकल कालेज, आयुष चिकित्सालय व बालिका छात्रावास का किया निरीक्षण - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, September 8, 2022

डीएम ने मेडिकल कालेज, आयुष चिकित्सालय व बालिका छात्रावास का किया निरीक्षण

मेडिकल कालेज के निर्मित भवनों में नियमानुसार अग्निशमन यंत्र लगाने के निर्देश

आयुष चिकित्सालय के निर्माण में गुणवत्ता का रखा जाए ध्यान 

समय से बालिका छात्रावास का कार्य पूर्ण कराए जाने की हिदायत

फतेहपुर, शमशाद खान । जिलाधिकारी श्रुति ने गुरूवार को अमर शहीद जोधा सिंह अटैया ठा. दरियाव सिंह चिकित्सा महाविद्यालय के अलावा निर्माणाधीन आयुष चिकित्सालय मेवली बुजुर्ग व बालिका छात्रावास सहिली का औचक निरीक्षण किया। उन्होने मेडिकल कालेज के निर्मित भवनों में नियमानुसार अग्निशमन यंत्र लगाने के जहां निर्देश दिए वहीं आयुष चिकित्सालय के निर्माण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने की बात कही। डीएम ने बालिका छात्रावास का समय से कार्य पूर्ण कराए जाने की हिदायत दी।

मेडिकल कालेज का निरीक्षण करतीं डीएम श्रुति।

सर्वप्रथम डीएम का काफिला मेडिकल कालेज पहुंचा। जहां निरीक्षण के दौरान कार्यदायी संस्था सीएनडीएस यूनिट-55 के अधिशाषी अभियंता से पूर्ण हो चुके व चल रहे निर्माण कार्याे की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जो भवन पूर्ण हो चुके है उनमें नियमानुसार अग्निशमन यंत्र लगाए जाए। लाइब्रेरी को पूर्ण रूप से क्रियाशील किया जाए। जो सामग्री आ चुकी है उसका इन्वेंट्री रजिस्टर बनाकर दर्ज किया जाए। प्रयोगशाला, लेक्चर हाल, छात्रावास को देखा। उन्होंने कार्यदायी संस्था को गुणवत्तापूर्ण, समयान्तर्गत निर्माण कार्य कराने हेतु निर्देशित किया। कोई भी स्टीमेट रिवाइज न किए जाने की बात कही। इसके बाद डीएम 7.39 करोड़ की लागत से बन रहे 50 शैयायुक्त एकीकृत आयुष चिकित्सालय मेवली बुजुर्ग पहुंची। जहां स्थलीय जायजा लिया। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य में गुणवत्तापूर्ण सामग्री का ही प्रयोग किया जाए। कार्यदायी संस्था से पूरे प्लान की जानकारी ली। निर्माण कार्य की भौतिक प्रगति को देखा और पाया कि 62 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। शेष कार्य मे प्रगति लाकर समयान्तर्गत, गुणवत्तापूर्ण कार्य पूर्ण कराने के निर्देश कार्यदायी संस्था को दिए। निर्माण कार्य बनाये गए नक्शे के अनुसार ही कराए जाने की बात कही। तत्पश्चात डीएम ने 1.70 करोड़ की लागत से बन रहे बालिका छात्रावास सहिली का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य समय से पूरा कराया जाए। निर्माण कार्य मे रिवाइज स्टीमेट नही दिया जाएगा। राजकीय बालिका इंटर कॉलेज सहिली के प्रधानाचार्या द्वारा छात्रावास में बाउंड्रीवाल निर्माण कराने के लिए अनुरोध किया। जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्था को निर्देशित किया कि जमीन का सीमांकन करते हुए स्टीमेट बनाया जाए। उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया कि निर्माण कार्य में शिथिलता/लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। निर्माण कार्य में गुणवत्ता, मानक व समय का ध्यान रखते हुए कार्य कराये जाय। इस अवसर पर जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी जोगेन्द्र सिंह यादव, जिला विद्यालय निरीक्षक देवकी सिंह, जिला सूचना अधिकारी आरएस वर्मा सहित कार्यदायी संस्थाएं व अन्य संबंधित उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages