शिक्षक दिवस : विभिन्न विद्यालयों में आयोजित हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, September 5, 2022

शिक्षक दिवस : विभिन्न विद्यालयों में आयोजित हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम

शिक्षक दिवस पर राधाकृष्णन को किया गया नमन 

बांदा, के एस दुबे । शिक्षक दिवस के मौके पर शहर के तमाम विद्यालयों में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। वहां पर संगोष्ठी और सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। साथ ही डा. सर्वपल्ली राधाकृष्ण को नमन किया गया। इसके साथ ही उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला गया। शहर के श्रीनाथ विहार चिल्ला रोड में स्थित भागवत प्रसाद मेमोरियल इंटर कालेज के परिसर में शिक्षक दिवस बड़े ही उत्साह के साथ मनाया गया। भारत के दूसरे राष्ट्रपति डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन, जो एक दार्शनिक और एक महान शिक्षक थे, उनके जन्म के उपलक्ष्य में हर वर्ष शिक्षक दिवस मनाया जाता है। विद्यालय के नामित चेयरमैन अंकित कुशवाहा, निर्देशिका संध्या कुशवाहा, प्रधानाचार्य राजेन्द्र सिंह ने सर्वपल्ली राधाकृष्णन के तस्वीर पर माल्यार्पण और दीप प्रज्वलित कर उनके प्रति श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

भागवत प्रसाद मेमोरियल इंटर कालेज में मौजूद छात्र-छात्राएं व शिक्षिकाएं

इंटरमीडिएट के छात्र-छात्राओं ने अध्यापक-अध्यापिकाओं का तिलक कर रोल माडल करते हुए अपने जूनियर की कक्षाएं भी पढाईं। इसके बाद नृत्य, संगीत, तथा हास्य समाचार प्रस्तुत किए गए। इसके बाद प्रधानाचार्य ने छात्रों को संबोधित करते हुए, समाज में शिक्षक के महत्व पर प्रकाश डालते हुए, उन्होंने सर्वपल्ली राधाकृष्णन के योगदान को अतुलनीय बताया। वहीं विद्यालय की प्रबंधक निदेशिका ने समाज में शिक्षक की भूमिका अकल्पनीय है। एक शिक्षक के मार्गदर्शन से ही देश के सुदृढ़ भविष्य का निर्माण होता है।

इसी तरह राजीव गांधी डीएवी महाविद्यालय में भारत रत्न डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस पर शिक्षक दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ महाविद्यालय के प्राचार्य डा. रामभरत सिंह तोमर ने चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलन कर किया। उन्होंने कहा कि शिक्षक समाज को तराशने वाले शिल्पकार हैं। शिक्षक ही हमारे अंदर छिपी प्रतिभा को निखारने का कार्य करते हैं। प्रकृति भी एक शिक्षक है जो हर पल हमें कुछ न कुछ सिखाती रहती है। कहा कि डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन महान शिक्षाविद होने के साथ साथ महान वक्ता एवं दार्शनिक थे। उनका विचार था कि यदि समाज शिक्षित होगा तो देश को विकसित होने से कोई नहीं रोक सकता है। इसके साथ ही छात्रों को उनके जीवन वृतांत पर लघु फिल्म दिखाई गई। इस अवसर में प्रवक्ता डा. विवेक कुमार पांडेय, डा. गरिमा द्विवेदी, डा. राजेश गुप्ता, छोटेलाल, मनोज कुमार, शकुंतला गुप्ता, डा. दिव्या सिंह, करुणेश चंद्र, उत्तम सिंह, धर्मवीर ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इसी तरह डीआर पब्ल्कि इंटर कालेज में शिक्षक दिवस का आयोजन किया गया। इस मौके पर शिक्षक पुरस्कार वितरण समारोह का भी आयोजन हुआ। संस्थान के अध्यक्ष चंद्रमौलि भारद्वाज, प्रबंधक श्रुति भारद्वाज और प्रधानाचार्य अशोक कुमार तिवारी की उपस्थिति में दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। विद्यालय की प्रबंधक ने कहा कि शिक्षक समाज का दर्पण होता है। शिक्षकों पर राष्ट्र निर्माण का महत्वपूर्ण दायित्व है। उन्होंने बताया कि संस्थान के विकास में प्रशंसनीय एव उत्कृष्ट योगदान करने वाले शिक्षकों का चुनाव करने के लिए एक पुरस्कार समिति का गठन किया गया था। समिति के द्वारा 10 शिक्षकों का चुनाव किया गया। इन सभी को सम्मान स्वरूप पुरस्कार भेंट किया। कुछ शिक्षकों को उनके अति विशिष्ट योगदान के लिए प्रशस्ति पत्र देकर भी सम्मानित किया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन हुआ। इसमें बच्चों ने सांस्कृतिक नृत्य एवं गायन प्रस्तुत किया। छात्र-छात्राओं ने शिक्षकों को पुष्प भेंटकर उनके स्नेह एवं सहयोग के लिए आभार प्रकट किया। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages