डाकघरों की दशा सुधारे संचार मंत्रालय - जीतू - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, September 6, 2022

डाकघरों की दशा सुधारे संचार मंत्रालय - जीतू

भाजपा नेता ने संचार मंत्री को पत्र लिखकर बताई खामियां

बांदा, के एस दुबे - भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष अशोक त्रिपाठी जीतू ने देश के संचार मंत्री अश्वनी वैष्णव को पत्र भेजते हुए डाकघर में आधुनिकीकरण कराए जाने के लिए पांच सूत्रीय मांग  पत्र भेजा है। पूर्व भाजपा नेता ने बताया कि डाकघर की स्थापना आम जनता को संचार सेवाए और छोटी छोटी बचत खाते से सरकारी योजनाओं में निवेश करना आदि की मुख्य भूमिका निभाई जाती है लेकिन इस समय डाक विभाग में कार्यरत कर्मचारी की संख्या कम होती जा रही है नए लोगो को नहीं रखा जा रहा है जिससे आम आदमी को दिन प्रतिदिन सुबह से शाम तक समस्या से जूझना पड़ता है। पूर्व अधिवक्ता संघ अध्यक्ष ने सुझाव दिया है कि डाक घर को डिजिटल किया जाए, अनुभवी कर्मचारी को रखा जाए। इसके अलावा काम में तेजी लाने के लिए नोट गिनने वाली मशीन प्रत्येक डाक घर में लगवाई जाए। डाकघर में सर्वर डाउन हो जाने की समस्या से छुटकारा पाने के

लिए चार जोन में सर्वर को विभाजित किया जा सकता है। श्री त्रिपाठी ने भारत सरकार के संचार मंत्री  को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि प्रत्येक ग्राहक की सुरक्षा  के लिए जरूरी हो जाता है कि सी सी टी वी केमरे से निगरानी रखी जाए ताकि किसी भी समय अनहोनी हो जाने पर कम से कम अपराधी की पकड़ हो सके।  इसके अलावा श्री जीतू  भाई ने डाकघर बचत सेवाओं से जुड़े हुए अभिकर्ता की सुरक्षा के लिए उनका और उनके परिवार वालों का मास्टर पॉलिसी करके बीमा कराया जाए और उसका प्रीमियम भारत सरकार द्वारा अदा किया जाए। इसके अलावा डाकघर के एजेंट को नए बचत खाते खोलने के लिए कार्ड की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए। पूर्व जिला अध्यक्ष श्री त्रिपाठी ने भारत सरकार को भेजे गए पत्र की एक प्रति उत्तर प्रदेश डाक विभाग के मुख्य वरिष्ठ प्रबंधक हजरत गंज लखनऊ को भी भेजी है जिसमे कहा गया है कि डाकघर में आने वाली महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों, सेवा निवृत अधिकारी और कर्मचारी को काम न होने या भीड़ भाड़ होने, सर्वर डाउन होने पर बैठने के लिए समुचित व्यवस्था नहीं होने से इन सभी ग्राहकों को भारी असुविधा हो रही है, जिसे जनहित में संज्ञान लेते हुए सुविधा उपलब्ध कराई जाए।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages