व्यवस्था ने तोड़ा दम तड़पता रहा मरीज नहीं किया भर्ती - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, September 19, 2022

व्यवस्था ने तोड़ा दम तड़पता रहा मरीज नहीं किया भर्ती

परिजनों ने कहा बिना इलाज बना दिया रिफर कागज 

सिस्टम इलाज नहीं दे पाया आखिर इसके लिए जवाबदेही किसकी है?

रिपोर्ट- शंकर दयाल गर्ग

मानिकपुर,चित्रकूट। मानिकपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र  व्यवस्था चरमरा गई है. स्वास्थ्य केंद्रों से लेकर सदर अस्पताल तक डॉक्टरों का अभाव और खराब व्यवस्था के कारण स्थिति दिनों दिन बिगड़ती जा रही है.  अस्पताल मे डॉक्टर ने बिना इलाज के ही मरीज को जिला चिकित्सालय के लिए रिफर कर दिया। मरीज घंटों तक अस्पताल में पड़ा रहा।


सोमवार को  कल्लू नामक मरीज को लेकर परिजन हॉस्पिटल पहुंचे लेकिन डॉक्टरों ने बिना इलाज किए रिफर कागज बना दिया। हॉस्पिटल के बाहर डॉक्टरों से पिता हाथ जोड़कर बेटे के इलाज करने के लिए गिड़गिड़ाता रहा। लेकिन मजबूर पिता की आवाज कोई सुनने वाला नहीं जब सीबी न्यूज के संवाददाता ने पहुंच कर सीएमओ को फोन लगाकर पूरी हकीकत बताई,इसके बाद आनन-फानन में डॉक्टरों ने उसे भर्ती कर इलाज चालू किया। कौन है इसके लिए जिम्मेदार? सरकारी सिस्टम इतना लापरवाह हो गया कि मरीज बाहर इलाज के अभाव में तड़पता रहा फिर भी उसे भर्ती नहीं किया गया एक नहीं बल्कि इस तरह के मामले हर रोज सामने आ रहे हैं जो सिस्टम पर सवाल उठा रहे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार स्वास्थ्य विभाग में कमी को सही करने की लाख कोशिश कर रही हो. लेकिन, समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानिकपुर में स्वास्थ्य विभाग की तस्वीर बदलती नहीं दिखाई दे रही।ताजा मामला जनपद चित्रकूट के मानिकपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है। यहां पर अंधेरे में मोबाइल की टॉर्च की रोशनी में किया जा रहा है दवा लिखने का काम।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages