वामन जयंती 7 सितम्बर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, September 6, 2022

वामन जयंती 7 सितम्बर

 भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि को वामन जयंती मनाई जाती है।  इस साल वामन जयंती 7 सितंबर  को मनाई जाएगी । इस दिन भगवान विष्णु के वामन अवतार की पूजा की जाती है। भागवत पुराण के अनुसार इस दिन त्रेता युग में श्रवण नक्षत्र में भगवान विष्णु ने पांचवें अवतार के रूप में जन्म लिया था।  भगवान विष्णु ने चार अवतार मत्स्य अवतार, कूर्म अवतार, वराह अवतार और नरसिंह अवतार पशु के रूप में लिए थे। उसके बाद उन्होंने पहला मनुष्य रूप वामन अवतार धारण किया था। दानवों के राजा बलि का अहंकार दूर करने के लिए इस तिथि पर भगवान श्री हरि विष्णु ने वामन अवतार लिया


वामन जयंती शुभ मुहूर्त-

भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि 7 सितंबर  बुधवार को सुबह 03:04 से शुरू होगी। वहीं द्वादशी तिथि का समापन 7  सितंबर रात्रि 12:04  पर होगा।  इस दिन श्रवण नक्षत्र का विशेष महत्व रहता है। इसी नक्षत्र में वामन अवतार ने जन्म लिया था। श्रवण नक्षत्र आरंभ 7 सितंबर  शाम 04:00 बजे से श्रवण नक्षत्र समाप्त 8 सितंबर  दोपहर 01:46 बजे तक।  वामन जयंती पर व्रत रखने का विधान  है। माना जाता है कि इस दिन व्रत रखकर भगवान विष्णु के वामन अवतार की पूजा करने से सभी पाप नष्ट हो जाते हैं। इस दिन स्नान आदि से निवृत होकर भगवान विष्णु के वामन अवतार की तस्वीर चौकी पर स्थापित करें। अगर वामन अवतार की फोटो न हो तो श्रीहरी तस्वीर का पूजन भी कर सकते हैं। वामन भगवान का पूजन करें। उन्हें रोली, मौली, पीले पुष्प, नैवेद्य आदि अर्पित करें। वामन अवतार की कथा का श्रवण करें। आरती कर प्रसाद बांट दें। साथ ही गरीबों और जरूरतमंदों को भोजन कराएं। दान भी जरूर करना चाहिए। इस दिन श्रवण नक्षत्र में पूजा करना काफी फलदायी माना जाता है 
-ज्योतिषाचार्य-एस.एस.नागपाल, स्वास्तिक ज्योतिष केन्द्र, अलीगंज, लखनऊ

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages