इमाम हुसैन ने इंसानियत के लिए अपना सबकुछ किया कुर्बान - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, August 7, 2022

इमाम हुसैन ने इंसानियत के लिए अपना सबकुछ किया कुर्बान

ज़ुल्म व जिल्लत के आगे झुकने की जगह कर्बला में हो गये शहीद-कारी फरीद

फतेहपुर, शमशाद खान । कर्बला के शहीदों कीं याद दिलाने वाले माहे मुहर्रम मे भाई चारा व अमन चैन बनाए रखे ये बात काज़ी-ए-शहर कारी फरीद उद्दीन कादरी ने कहीं। पत्रकारो से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा इमाम हुसैन ने अपने साथियों के साथ मैदाने कर्बला मे अपना सब कुछ क़ुरबान कर के रहती दुनिया तक के इंसानो को यही पैग़ाम दिया कीं खव्वाह उनकी जान चली जाए मगर इस्लाम व इंसानियत पर आच ना आने पाए। काज़ी‘-ए-शहर श्री कादरी ने कहा यजीद के जुल्म मानवता विरोधी कृतियों के विरोध मे नवासा ए रसूल इमाम हुसैन ने खड़े हो कर उसका मुह तोड़ जवाब दिया और  यजीदियत के जुल्म के सामने सब्र का पहाड़ बन कर डटे रहे और अंत मे अपनी

काजी-ए-शहर कारी फरीद उद्दीन कादरी।

भीं शहादत पेश कर के सारी दुनिया को ये पैग़ाम दिया कीं जुल्म व जबर के आगे झुकना ज़िल्लत है मौत है मगर सर कटाना इज्जत है और जिन्दगी है। जब जुल्म हद से ज्यादा बड़ जाता है तो कोई उसे रोकने वाला आता है यजीद इस्लाम के उसूलों को मिटा रहा था और इमाम हुसैन उसको बचाने आए थे। उन्होंने हालत व हुसैनी पैग़ाम को मद्देनजर रखते हुए अपने जनपद के मुस्लिम समाज के लोगों से अपील किया कीं मुहर्रम के साथ साथ दूसरे हम वतन भाइयों के त्योहार भीं है जिसे हम सब मिल कर गंगा जमुनी तहजीब को बाकी रखते हुए अंजाम तक पहुंचाए और जिला के गौरवशाली इतिहास को मजबूत करे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages