बेटे के कातिलों को सज़ा दिलाने को भटक रही बूढ़ी मां - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, August 5, 2022

बेटे के कातिलों को सज़ा दिलाने को भटक रही बूढ़ी मां

थाने से लेकर एसपी की चौखट तक लगा चुकी फरियाद

पुलिस की मिलीभगत से आज़ाद घूम रहे हत्यारोपी पीड़ितों को दे रहे धमकियां

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ जहां अपराध पर ज़ीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हैं। अपराधियों को किसी भी सूरत में न बख्शने की नीति पर सीएम व डीजीपी भी एकमत है लेकिन उन्ही की पुलिस न सिर्फ सीएम व डीजीपी के आदेशों की धज्जियां उड़ा रही है बल्कि प्रदेश की कानून व्यवस्था का मख़ौल उड़ाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। जनपद के थरियांव थाना क्षेत्र के ग्राम बेंती सादात निवासी वृद्धा अपने बेटे के हत्यारों को सज़ा दिलाने के लिये थाना व अदालत के चक्कर काटने पर मजबूर होने के बाद एक बार फिर से पुलिस अधीक्षक के कार्यालय पर पहुंचकर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।

एसपी कार्यालय के बाहर खड़ी मृतक की बूढ़ी मां व अन्य परिजन।

गुरुवार को थरियांव थाना क्षेत्र के ग्राम बेंती सादात निवासी वृद्धा पार्वती देवी ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर शिकायती पत्र देते हुए बताया कि उसके पुत्र की 29 मई 2022 को हत्या कर दी गयी थी। पुलिस हत्यारो को सज़ा दिलाने की जगह हत्यारोपियों को संरक्षण दे रही है। पुलिस के संरक्षण में हत्या के आरोपी पीड़ित परिवार को ही धमकी दे रहे है। मृतक के भाई शिवशंकर पुत्र राजबहादुर ने उसके भाई हरिशंकर की हत्या में गांव के सिराजुल हसन पुत्र अमीर हसन बनने पुत्र रघुनंन्दन मौर्या, अंकित मौर्या, पवन मौर्या पुत्र बन्ने मौर्या, राशिद पुत्र लल्लन आदि के शामिल होने का आरोप लगाते हुए बताया कि मृतक भाई के साथ घटनास्थल पर मौजूद था। उन्हें इन लोगों पर भाई की हत्या का शक है। साथ ही कहा कि पुलिस को जांच में ऐसे लोगों के नाम को शामिल कर उनसे पूछताछ कर मामले का खुलासा करना चाहिए लेकिन पुलिस पीड़ित परिवार को थाने जाने पर गाली गलौच कर भगा देती है। परिजनों ने पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है। वहीं पुलिस अधीक्षक राजेंश कुमार सिंह ने परिवार को मामले की जांच कर दोषियो पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages