डिप्थीरिया से हुई मौतों पर डीएम सख्त, जिम्मेदारों पर कार्यवाही के निर्देश - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, August 29, 2022

डिप्थीरिया से हुई मौतों पर डीएम सख्त, जिम्मेदारों पर कार्यवाही के निर्देश

सीएचसी अधीक्षक नरैनी को बदलने के निर्देश

डीएम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक

बांदा, के एस दुबे । सोमवार को जिलाधिकारी अनुराग पटेल की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलक्ेट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक में स्वास्थ्य के समस्त इन्डिकेटर्स की समीक्षा की गयी, जिसमें कोविड वैक्सिनेशन, संस्थागत प्रसव, जननी सुरक्षा योजना, हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर, आयुष्मान भारत, आर.बी.एस.के., टीकाकरण, मलेरिया एवं नेत्र कार्यक्रम इत्यादि जिसमें ब्लॉक नरैनी की प्रगति खराब रही, जिस पर जिलाधिकारी नें मुख्य चिकित्सा अधिकारी को अधीक्षक, सी0एच0सी0 नरैनी को बदलने हेतु निर्देशित किया।


जिलाधिकारी द्वारा तहसील पैलानी तथा बबेरू क्षेत्र से सम्बन्धित अधीक्षक, सी0एच0सी0 जसपुरा तथा बबेरू को सम्बन्धित उप जिलाधिकारी से सम्पर्क कर बाढ प्रभावित क्षेत्रों में मरीजों के उपचार एवं दवाओं की उपलब्धता कराये जाने हेतु निर्देशित किया। जिला सर्विलान्स अधिकारी, डब्लू0एच0ओ0 द्वारा आगामी माह मे 18 से 23 सितम्बर तक पल्स पोलियो कार्यक्रम के आयोजन की जानकारी को साझा किया गया, जिसकी समस्त गतिविधियों को ससमय पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये। टीकाकरण के मॉनीटरिंग डाटा की समीक्षा के दौरान ब्लॉक बबेरू, महुआ तथा नरैनी की प्रगति खराब पाये जाने पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को सो-कॉज नोटिस जारी करते हुए मानदेय रोकने के निर्देश दिये गये।

जिलाधिकारी द्वारा डिपथीरिया के कारण बच्चों की मृत्यु होने पर नाराजगी व्यक्त की गयी तथा टीम गठित कर जाँच कराने एवं उत्तरदायी कर्मचारी को सेवा से निस्काष्न की कार्यवाही कराये जाने हेतु मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया गया, साथ ही सम्बन्धित ग्राम त्रिवेणी एवं पचनेही में एक्टिव केस सर्च (ए0सी0एस0) की गतिविधि कराने हेतु सम्बन्धित अधीक्षक/प्रभारी चिकत्सा अधिकारी को निर्देशित किया।

बैठक में अवगत कराया गया जिलाधिकारी द्वारा 03 आकांक्षी ब्लॉक (बबेरू, बिसण्डा तथा कमासिन) में सुधार न होने की स्थिति मे जिलाधिकारी द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी को अच्छा कार्य करने वाले चिकित्सकों को अधीक्षक/प्रभारी चिकित्सा अधिकारी के रूप में तैनात करने हेतु निर्देशित किया तथा नियुक्त किये गये अधीक्षक/प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया गया, कि उनकी इकाई पर जो भी मानव संसाधन की कमी है, उसकी सूचना तीन दिवस के अन्दर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। एन0एच0एम0 के अन्तर्गत समस्त स्वास्थ्य सूचकांकों की समीक्षा की गयी जिसमें कि नरैनी, महुआ, जसपुरा, तिंदवारी के इन्डिकेटर्स काफी खराब हैं, जिस पर मुख्य चिकित्साधिकारी को  निर्देशित किया गया, कि उक्त के कारण बताओ नोटिस जारी करायें।

आर.बी.एस.के. कार्यक्रम की समीक्षा में ब्लॉक बिसण्डा एवं कमासिन की खराब प्रगति पर नाराजगयी व्यक्त करते हुए प्रभारी चिकित्सा अधिकारी बिसण्डा द्वारा उनके ब्लॉक पर मात्र एक आर0बी0एस0के0 टीम के कार्य करने की जानकारी दी गयी, इसी प्रकार प्रभारी चिकित्सा अधिकारी कमासिन द्वारा 07 उपकेन्द्र रिक्त होने की जानकारी को साझा किया गया, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा आंकाक्षी ब्लॉकों की स्थिति सुधार हेतु वहाँ के समस्त पदों पर कर्मचारी स्थानान्तरित कर टीम पूर्ण कराने हेतु मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी वेद प्रकाश मौर्या, मुख्य चिकित्सा अधिकारी अनिल श्रीवास्तव, समस्त अपर/उप मुख्य चिकित्साधिकारी, बेसिक शिक्षा अधिकारी , बाल विकास परियोजना अधिकारी, समस्त कार्यक्रम समन्वयक, डी.पी.एम.यू. टीम, समस्त अधीक्षक/प्रभारी चिकित्साधिकारी तथा पर्टनर एजेन्सी टीम के  सदस्य उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages