नाग पंचमी पर पूजा अर्चना के बाद बच्चों ने पीटी गुड़िया - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, August 2, 2022

नाग पंचमी पर पूजा अर्चना के बाद बच्चों ने पीटी गुड़िया

कई स्थानों पर लगे मेले में हुई खरीददारी, लोगों के घरों में बने पकवान 

फतेहपुर, शमशाद खान । शहर के अलावा ग्रामीणांचलो में भी नाग पंचमी का पर्व मंगलवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। नाग पंचमी का पर्व में कई स्थानों में कुछ अलग ढंग से मनाने की परम्परा लंबे समय से चली आ रही है। कहीं मंदिर के निकट भव्य गुड़ियों का मेला आयोजित किया गया तो कहीं मान्यता के अनुसार लोगों ने पूजा अर्चना की। कई मंदिरों को रंग बिरंगी लाइटों से सजाया गया था। वहीं छोटे बच्चों ने कपड़ों से बनाई रंग बिरंगी गुड़ियों को जमकर कूटा और त्योहार मनाया। मेले में भी बच्चों के अलावा बड़ों की भारी भीड़ रही और लोगों ने जमकर खरीदारी भी की। 

मुराइनटोला हनुमान मंदिर के बाहर गुड़िया पीटते बच्चे।

शहर के मुराइनटोला, कलक्टरगंज, आर्य समाज तिराहा आदि मोहल्लों में मेलों की आयोजन किया गया। यहां नाम पंचमी का त्योहार गुड़िया पर्व के नाम से जाना जाता है। वह त्योहार काफी भव्यता व धूमधाम के साथ मनाया जाता है। उसी परम्परा के अनुसार कपड़ें की रंग बिरंगी गुड़ियों को तैयार करके छोटे बच्चे नीम की सजी धजी डंडी से कूटते है। यहां पर भी गुड़ियों कूटने की परम्परा वर्षों से चली आ रही है। बच्चों में इस त्योहार को लेकर काफी उत्साह रहता है। नाग पंचमी पर ज्यादातर हिन्दू घरों में पकवान बनाए जाते हैं। महिलाएं श्रृंगार के साथ आस-पास के मंदिर एवं मेला में शिरकत करती हैं। साथ ही सावन माह होने के चलते त्योहार में झूला झूलने की परम्परा भी है। त्योहार में शहर में तो झूला कहीं नही नजर आए लेकिन ग्रामीणांचलों में झूलों की मस्ती देखने को मिली। लोग अपने-अपने घरों से रंग बिरंगे कपड़ों की गुड़ियां भी तैयार की गई। शाम के समय छोटे बच्चे सज धज कर तैयार हुए और उन्होने पहले से ही तैयार की गई नीम की हरी डंडी से गुड़ियों को कूटा। कई स्थानों पर गुड़िया कूटने का काम हुआ यहां पर भव्य मेला भी आयोजित किया गया। इस मेले में बच्चों के लिए कई प्रकार के झूले व खेल खिलौनों की दुकाने लगाई गई थी। बच्चों ने जमकर मस्ती की। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages