विद्यालय प्रबंधक के खिलाफ शिक्षकों ने डीएम को सौंपा ज्ञापन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, July 25, 2022

विद्यालय प्रबंधक के खिलाफ शिक्षकों ने डीएम को सौंपा ज्ञापन

संस्था में फैल रही अराजकता पर रोक लगाए जाने की मांग 

फतेहपुर, शमशाद खान । संकठा प्रसाद इंटर कालेज मवई गनेशपुर के शिक्षकां ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर बताया कि नवनिर्वाचित प्रबंधक शिक्षक अवधि में विद्यालय पहुंच जाते हैं और पूरा समय स्टाफ रूम में कब्जा किए रहते हैं। इतना ही नहीं अयोग्य व्यक्तियों को शिक्षक उपस्थिति पंजिका में लिखकर शिक्षण कार्य की अनुमति दे दी है। ऐसी स्थिति में संस्था में अराजकता फैल रही है। मांग किया कि व्यक्तिगत हस्ताक्षेप करके फैल रही अराजकता पर रोक लगाई जाए। 

ज्ञापन देने के लिए कलेक्ट्रेट में खड़े शिक्षक।

सोमवार को संकठा प्रसाद इंटर कालेज मवई गनेशनपुर के शिक्षक कलेक्ट्रेट पहुंचे और जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर बताया कि विद्यालय के पूर्व प्रधानाचार्य कल्लू सिंह उर्फ नरेंद्र सिंह ने षड़यंत्र करके अपने बड़े पुत्र राजेश सिंह को प्रबंधक बनवा दिया और पूर्व प्रबंधक शंकर सिंह को अपदस्थ करवा दिया। 15 जुलाई को नवनिर्वाचित प्रबंधक के हस्ताक्षर प्रमाणित हो गए हैं। उस दिन से नवनिर्वाचित प्रबंधक अपने गुण्डों के साथ प्रत्येक दिन शिक्षण अवधि में विद्यालय पहुंच जाते हैं। उनके सभी साथी स्टाफ रूम में पूरे समय कब्जा किए रहते हैं। शिक्षण व्यवस्था में व्यवधान भी पैदा करते हैं। नवनिर्वाचित प्रबंधक के दुर्व्यवहार से ऊबकर सभी शिक्षकों ने 25 जुलाई व 26 जुलाई को सामूहिक अवकाश ले लिया है। जिसकी सूचना जिला विद्यालय निरीक्षक को भी सूचना दे दी गई है। डीआईओएस को समय-समय पर सूचित भी किया जाता रहा है लेकिन अब तक कोई हल नहीं निकला। नवनिर्वाचित प्रबंधक ने पहले से कार्यरत शिक्षकों के अलावा तेरह अयोग्य व्यकितयों को शिक्षक उपस्थिति पंजिका में लिखकर यह कह दिया कि ये लोग भी शिक्षण कार्य करेंगे। शिक्षकों ने मांग किया कि अपना व्यक्तिगत हस्तक्षेप करते हुए संस्था में फैल रही अराजकता पर रोक लगाई जाए। इस मौके पर शिक्षकों में सुरेश सिंह, प्रेम सिंह, राज किशोर द्विवेदी, छेदालाल तिवारी, लक्ष्मीशंकर, रामशरण, कमलेश कुमार यादव, राजेंद्र कुमार वर्मा, रामकरन सिंह, त्रिभुवन नाथ मौर्य, राजेंद्र सिंह, भवानी प्रसाद, राम मोहन सिंह भी मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages