जनशिक्षण संस्थान द्वारा किया गया वृक्षारोपण पर स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, July 20, 2022

जनशिक्षण संस्थान द्वारा किया गया वृक्षारोपण पर स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन

प्रशिक्षण स्थल बबेरू में हुआ आयोजन

बांदा, के एस दुबे । कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित जन शिक्षण संस्थान बादा ने आज स्वच्छता पखवाडा के अर्न्तगत साफ सफाई के महत्व पर स्लोगन प्रतियोगिता एवं वृक्षारोपण के महत्व पर व्याख्यान/पौधा रोपण कार्यक्रम का आयोजन प्रशिक्षण स्थल अम्बेडकर नगर, बबेरू बादा में किया गया जिसके मुख्य अतिथि रामऔतार वर्मा, प्रबंधक डा0 वी0 आर0 विद्यालय बबेरू जी रहे।  


कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि रामऔतार वर्मा, प्रबंधक जी ने जन शिक्षण संस्थान द्वारा किये जा रहे कार्यक्रमों की सराहना करते हुयें कहा कि स्वच्छता पखवाडा कार्यक्रम के अर्न्तगत साफ सफाई के महत्व पर प्रतिभागियों को साफ सफाई एवं स्वच्छता पर जानकारी दी गयी और कहा गया कि  अपने शरीर की सफाई जैसे रोज करते है वैसे ही हमें अपने घर, स्कूल, आफिस, कार्य करने की जगह को भी रोज साफ करना चाहिये तथा पर्यावरण पर जल की समस्या बहुत अधिक है समस्या का हल अगर मिल जाता है तो सबसे बडी जीत होगी वाटर लेवल कम होने के कारण जल की अधिक समस्या हो जाती है बहाव के कारण मिटटी के कण बह जाते है जिसके कारण भूमि बन्जर हो जाती है। संस्थान के निदेशक मोह0 सलीम अख्तर जी द्वारा कहा गया स्वच्छता पखवाडा कार्यक्रम के अर्न्तगत पर्यावरण एवं पौधा रोपण कार्यक्रम के दौरान कहा कि एक वृक्ष लगाना सौ पुत्रो को जन्म देने के सामान पूर्ण का कार्य है वृक्ष धरा के आभूषण हैं वृक्ष सदैंव परोपकार का ही कार्य करते हैं जैसे- पर्यावरण, जलवृष्टि, आक्सीजन, छाया इनका प्रमुख श्रोत मुझे वृक्षो के माध्यम से ही मिलता है। यदि वृक्ष न हो तो उपरोक्त वस्तुओं का मिलना मेरी समझ से असम्भव होगा। कार्यक्रम अधिकारी श्री संजय कुमार पाण्डेय जी द्वारा कार्यक्रम के दौरान प्रतिभागियों को बताया गया कि अगर हमारें आस पास का परिसर स्वच्छ रहेगा तो हमसे सभी रोग एवं बीमारियां दूर रहती है इससे पता चलता है कि स्वच्छता किसी भी व्यक्ति के जीवन में कितनी अहम है। कार्यक्रम अधिकारी श्री सौम्य खरे द्वारा बताया गया कि जीवन को सुखी और स्वस्थ्य तारीके से चलाने के लिये, हमे एक स्वस्थ्य और प्राकृतिक वातावरण की जरूरत होती है निरंतर बढती हुई जनसंख्या जंगलों पर प्रतिकूल प्रभाव डालती है मनुष्य अपनी सुरक्षा के साथ रहने के लिये, घरो के निर्माण के लिये बडे पैमाने पर जंगलों को काट रहे है इससे पृथ्वी पर पूरी तरह से जीवन और पर्यावरण के बीच प्राकृतिक चक्र को बाधित किया है। संस्थान के लेखाकार श्री लक्ष्मीकान्त दीक्षित द्वारा बताया गया कि जलवायु में परिवर्तन की क्रियाऐं बहुत धीरे धीरे हो रही है हालाकिं ये निरन्तर चलती प्रक्रिया बहुत ही खतरनाक है हमें अपने आस पास के वातावरण को साफ एवं स्वच्छ रखते हुये एक एक पौधे का रोपण सभी व्यक्तियों को करना चाहिये जिससे पर्यावरण को बचाये रखा जा सके। स्लोगन प्रतियोगिता मे प्रतिभागियो को मुख्य अतिथि द्वारा प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान दिया गया। उक्त कार्यक्रम में संस्थान के कार्यक्रम समन्वयक श्री नीरज श्रीवास्तव, सहा0 कार्यक्रम अधिकारी श्री मंयक सिंह, क्षेत्र सहायिका शिवांगी, चालक नीरज कुशवाहा, मनोज कुमार एवं अनुदेशिका कु0 नाजनी सहित 80 लोग कार्यक्रम में उपस्थित रहें।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages