स्टील फर्नीचर कारोबारी की हत्या कर शव यमुना नदी में फेंका - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, July 29, 2022

स्टील फर्नीचर कारोबारी की हत्या कर शव यमुना नदी में फेंका

21 जुलाई को हुआ था अपरहण, खोज रही थी चार टीमें

पकड़े गए आरोपितो ने बताया कि औगासी पुल से फेंका शव 

दिवंगत का मोबाइल बरामद होने की हुई पुष्टि 

खागा/फतेहपुर, शमशाद खान । नगर के मानू का पुरवा मोहल्ले से अपहृत स्टील फर्नीचर कारोबारी इरफान को पुलिस नहीं बचा पाई। अपहर्ता फिरौती मांगने से कारोबारी को चित्रकूट ले गए, वहां कुछ घंटे एक मकान में बंधक बनाकर रखा। इसके बाद वहीं पर गला घोंट कर हत्या कर दी और 21 जुलाई को 22 वर्षीय कारोबार का शव जिले आकर गाजीपुर पुल के ऊपर से शव यमुना नदी में फेंक दिया था। पुलिस को झांसा देने के लिए मुख्य आरोपित धर्मेंद्र मौर्य तथा उसके साथी कानपुर, फरीदाबाद, मेरठ, दिल्ली, चित्रकूट, कोटा घूमते रहे। देर शाम पुलिस शव की तलाश के लिए औगासी यमुना पुल के आसपास खोजबीन की गई लेकिन शव नहीं मिला है।

कोतवाली में मौजूद परिजन।

स्टील फर्नीचर कारोबारी को अगवा करने के बाद आरोपित धर्मेंद्र मौर्य-कसरहा पुरवा थाना हथगाम व उसके तीन साथियों बबलू, अभिषेक व दीपक ने मिलकर उसी दिन हत्या कर दी। हिरासत में लिए गए संदिग्धों ने पुलिस को बताया कि औगासी, गाजीपुर पक्का पुल से शव को यमुना नदी में फेंककर धर्मेंद्र व उसके साथी कार से कानपुर की ओर निकल गए। हत्या को अंजाम देने के बाद सभी आरोपित मेरठ निकल गए। यहां पर कुछ घंटे रुकने के बाद वह एक साथी के साथ फतेहपुर लौटे। 23 जुलाई को एक गैराज में कार छोड़कर धर्मेंद्र व उसके साथी बस में बैठकर पुनः चित्रकूट चले गए। कुछ संदिग्धों के माध्यम से पुलिस आरोपितों तक पहुंची तो पूरे मामले की गुत्थी सुलझी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages