बेटे की चाहत में हो जाती हैं कई संताने : सांसद - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, July 11, 2022

बेटे की चाहत में हो जाती हैं कई संताने : सांसद

परिवार नियोजन परामर्श दिवस पर बताए छोटे परिवार के हैं बड़े फायदे

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। विश्व जनसँख्या दिवस को सोमवार को परिवार नियोजन परामर्श दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर जिला अस्पताल समेत सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, स्वास्थ्य उप केन्द्रों और हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर परिवार को सीमित रखने और दो बच्चों के जन्म में पर्याप्त अंतर रखने के बारे में दम्पति को जागरूक किया गया। समुदाय को छोटे परिवार के बड़े फायदे के बारे में सन्देश दिया गया। परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने को लेकर केन्द्रों पर स्टाल लगाकर भी लोगों को परिवार नियोजन के साधनों के बारे में जानकारी दी गयी और इन्हें अपनाने को प्रेरित किया गया।

संबोधित करते सांसद।

जिला अस्पताल सोनेपुर में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद आरके सिंह पटेल ने कहा की बेटों की चाहत में कई संतानें हो जाती हैं, इससे बचने में ही भलाई हैद्य बेटा और बेटी में अंतर न करें। उन्होंने जन समुदाय का आह्वान किया कि छोटा परिवार रहेगा तो उनकी अच्छी परवरिश होगी। दो बच्चे रहेंगे चाहे वह बेटा हो या बेटी तब उनकी अच्छी शिक्षा होगी और उन्हें अच्छा भोजन भी करा सकेंगे। बेटियाँ हर जगह बेटों से आगे निकलकर गाँव, प्रदेश और देश का नाम रोशन कर रहीं हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. भूपेश द्विवेदी  ने कहा कि परिवार की खुशहाली, शिक्षा, स्वास्थ्य और तरक्की तभी संभव है जब परिवार सीमित होगा। अस्थायी साधनों में से अपनी पसंद का साधन चुनकर शादी के दो साल बाद ही बच्चे के जन्म की योजना बना सकते हैं। दो बच्चों के जन्म में कम से कम तीन साल का अंतर भी रख सकते हैं। दो बच्चों के जन्म में पर्याप्त अंतर रखना मां और बच्चे दोनों की बेहतर सेहत के लिए बहुत जरूरी है। जब परिवार पूरा हो जाए तो स्थायी साधन के रूप में नसबंदी का विकल्प चुन सकते हैं। इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी व परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. आरके चौरिहा ने कहा कि समुदाय में परिवार नियोजन के प्रति जागरूकता लाने के लिए फ्रंट लाइन कार्यकर्ताओं के माध्यम से दो चरणों में परिवार नियोजन पखवाड़ा मनाया जा रहा है। कहा कि परिवार नियोजन के बारे में किशोर-किशोरियों को भी जागरूक करने की जरूरत है। ताकि भविष्य में वह सही समय पर सही कदम उठाने के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर सकें। इस मौके पर भाजपा नेता शक्ति सिंह तोमर, राज कुमार त्रिपाठी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. सुधीर शर्मा, अशोक सिंह, परिवार नियोजन विशेषज्ञ अजय शुक्ला, ज्ञान चंद शुक्ल, एएनएम बीनू,रीता रैकवार, काउंसलर सुषमा खरे आदि मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages