गुरू पूर्णिमा पर पूर्वमंत्री ने संतो को वस्त्र भेंटकर भण्डारे का किया आयोजन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, July 14, 2022

गुरू पूर्णिमा पर पूर्वमंत्री ने संतो को वस्त्र भेंटकर भण्डारे का किया आयोजन

फतेहपुर, शमशाद खान । बुधवार को वैशाखी पर्व के साथ-साथ गुरूपूर्णिमा का पर्व जिले भर में धूमधाम से मनाया गया विभिन्न सस्थानो में पूजा अर्चना कर गुरू की महिमा का बखान करते हुये भण्डारो का आयोजन किया गया जिसमें आयोजको ने साधू सन्तो को वस्त्र भेट कर दक्षिणा भी दी। इसी क्रम में पूर्व मंत्री राधेश्याम गुप्त की अगुवायी में राधा वाटिका में भी बडे पैमाने पर भण्डारे का आयोजन किया गया। पूर्व मत्री ने गुरू पूर्णिमा पर साधू सन्तो को अशिला व दक्षिणा देकर अपने गुरू स्वामी मूलानन्द को याद किया। 

भण्डारे मे साधु सन्तो को वस्त्र भेट करते उद्योग पति गांपाल गुप्त।

अषाढ मास की पूर्णिमा अर्थात गुरू पूर्णिमा जिसे अषाढो पर्व के नाम से भी जाना जाता है। नई उमंग व श्रद्धा के साथ लोगो ने पर्व को मनाते हुये गुरू को महत्व पर प्रकाश डाला। घरो के साथ-साथ मन्दिरो व आश्रमो मे भी गुरू पूर्णिमा पर आयोजित कार्यक्रम धूमधाम से मनाया गया।  पूर्व मत्री राधेश्याम गुप्त ने पर्व के मौके पर राधा वाटिका स्थित स्वामी मूलानन्द की पूजा अर्चना करके साधू सन्तो को वस्त्र व दक्षिणा देकर आर्शीवाद लिया। इस मौके पर पूर्व मत्री के पुत्र एवं समाजसेवी उद्योग पति गोपाल कृष्ण गुप्त, अयाह शाह विधायक विकास गुप्ता उर्फ बबलू ने भी अपने पिता पूर्व मंत्री का भर पूर साथ देते हुये आगन्तुको को प्र्रेम के साथ भण्डारा रूपी प्रसाद ग्रहण कराया। घरो में भी वैशाखी पर्व को लेकर लजीज व्यंजनो के साथ आम का भी रसास्वादन का दौर चलता रहा। सुबह से ही पर्व का उत्साह देखते ही बना। शाम होते-होते पर्व चरमोत्कर्ष पहुच गया। गत वर्षो की भाति इस वर्ष भी गुरू पूर्णिमा पर्व पर मूख्यालय सहित गांव व कस्बो मे भी गुरू पूर्णिमा की धूम रही। सभी स्थानो पर गुरू की पूजा अर्चना के कार्यक्रम आयोजित किये गये। गुरू दक्षिणा का दौर चलता रहा। सभी कार्यक्रमो में सम्प्रदाय के लोगो ने भी हिस्सेदारी निभाकर को भाईचारे की डोर को और मजबूत करने का काम किया। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages