नहीं मानी हार, टीबी को हरा मदन बने टीबी चैंपियन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, July 26, 2022

नहीं मानी हार, टीबी को हरा मदन बने टीबी चैंपियन

जागरूकता फैला कर अब तक 32 मरीजों को दिला चुके टीबी से जीत 

फतेहपुर, शमशाद खान । आखिरकार मदन की दृढ इच्छा शक्ति के आगे टीबी को घुटने टेकने ही पडे़। नियमित दवाओं के सेवन और पोषण के प्रति जागरूक होने के बाद मदन को सफलता मिल ही गई और आज वह टीबी चैंपियन बनकर दूसरे टीबी मरीजों को इस खतरनाक बीमारी के प्रति न सिर्फ जागरूक कर रहे हैं बल्कि मरीजों को जांच कराकर उन्हे दवाएं दिलाना और समय समय पर मरीजों का हालचाल लेना उनकी दिनचर्या में शामिल हो गया है। उनके इस लगन और मेहनत से स्वास्थ्य विभाग भी प्रभावित है।

टीबी चैंपियन मदन।

हथगाम के रहने वाले मदन चंद्रा को वर्ष 2017 में टीबी हुई थी। लगातार खांसी और बुखार आने से वह काफी कमजोर हो गये थे। हथगाम सीएचसी में जब इलाज कराया तो डाक्टरों ने टीबी हास्पिटल के लिए रेफर कर दिया। टीबी हास्पिटल में जांच कराने पर मदन को टीबी होने की पुष्टि हुई। उन्होंने बताया कि छह महीने का कोर्स करने के बाद कानपुर में भी टीबी का इलाज चला। बीच में उन्होंने दवा नहीं छोडी और पूरा कोर्स किया साथ ही पौष्टिक भोजन कर टीबी से मुक्ति पाई। मदन ने बताया कि जब टीबी से ठीक हो गये तो उनके मन में दूसरे मरीजो को टीबी के प्रति जागरूक करने की इच्छा जगी। उन्होंने टीबी हास्पिटल के एसटीएस डा. अजीत से मिले और उन्हे टीबी चौंपियन बना दिया गया। तब से मदन गांव गांव विजिट करके लोगों को टीबी के प्रति जागरूक कर रहे हैं और अब तक उन्होंने 32 मरीजों का टीबी का इलाज कराकर उन्हे ठीक करा चुके है। टीबी चैंपियन मदन से प्रेरित होकर इलाज करा रहे सरांय इदरीश के रहने वाले मोहम्मद इस्लाम ने बताया कि विजिट के दौरान उन्होंने टीबी के प्रति जागरूक किया और इलाज कराया, अब काफी आराम है। इसी प्रकार टेकारी के रहने वाले सुनील सिंह ने बताया कि एक वर्ष पहले टीबी हो गई थी। मदन ने विजिट के दौरान मिलकर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जांच कराई और दवा दिलाई। कोर्स पूरा करने के बाद अब ठीक हूं और नौकरी करके घर परिवार चला रहा हूं। 

टीबी चैंपियन लोगों को कर रहे जागरूक

फतेहपुर। जिला क्षय रोग अधिकारी डा. अशोक गुप्ता ने मदन के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि अन्य टीबी चैंपियन भी गांव गांव विजिट करके लोगों को टीबी के प्रति जागरूक कर रहे है। सकारात्मक बातचीत और पौष्टिक आहार से टीबी से लडाई आसान हो रही है। इसमे टीबी मरीजों को गोद लेकर पोषण व भावनात्मक सहयोग देने वाले अहम भूमिका निभाग रहे है। उन्होंने कहा कि लोग टीवी चैंपियन की बात माने और कोर्स पूरा करें।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages