सावन के पहले सोमवार को शिवालयो में उमड़ा हुजूम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, July 18, 2022

सावन के पहले सोमवार को शिवालयो में उमड़ा हुजूम

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। प्रभु श्रीराम की तप स्थली में सावन माह के पहले सोमवार को प्रमुख शिवालयो में श्रद्धालुओं का हुजूम देखने को मिला। सुबह चार बजे से रामघाट में आस्था का भव्य नजारा रहा। दूरदराज क्षेत्रों से आए शिव भक्तो ने मंदाकिनी में डुबकी लगाने के बाद महाराजाधिराज मत्यगजेन्द्रनाथ मंदिर में पहुंचकर भगवान शिव का जलाभिषेक किया। तड़के से मंदिर के पट खुलते ही श्रद्धालु उमड़ पड़े। हर-हर महादेव के जयकारों से शिवालय गुजायमान हो गया। मंदिर में महिला और पुरुषों की अलग-अलग लाइने लगाई गई थी। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहे। मंदिर में नीचे रामघाट से ही श्रद्धालुओं की भीड़ एकत्र थी। जलाभिषेक के लिए हजारों की भीड़ उमड़ी रही। श्रद्धालुओं ने अक्षत, पुष्प, बेलपत्र, धतूरा लेकर भगवान शंकर के जयकारे लगाते हुए धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे थे। मंदिर पहुंकर विधिविधान से पूजन अर्चन कर शिवअभिषेक किया। इसके बाद श्रद्धालुओं ने भगवान कामदनाथ के दरबार में मत्था

मत्यगजेन्द्रनाथ मंदिर में उमड़े शिवभक्त।

टेका। कामदगिरि की परिक्रमा लगाई। इसी तरह चर गांव स्थित ऐतिहासिक सोमनाथ मंदिर में भी श्रद्धालुओं की भारी तादाद रही। पुलिसकर्मियों व मंदिर प्रबंध के कार्यकर्ताओं ने श्रद्धालुओं की लाइन लगवाकर जलाभिषेक कराया। पहाड़ी स्थित पालेश्वर नाथ मंदिर व मड़फा में चंदेल कालीन भगवान शंकर के मंदिर में जलाभिषेक को आस्थावान पहुंचे। हर-हर महादेव के जयकारो से धर्मनगरी शिवमय हो गया। इसी क्रम में राजापुर कस्बे के देवी दयाल शिवाला सब्जी मण्डी, हनुमान मन्दिर रोड शिवाला, अर्द्धनारेश्वर शिवाला, शिवहरे शिवाला समेत कस्बे के अन्य शिवालयों में शिवभक्तों ने भक्ति भाव से पूजा अर्चना की। शिवालयों को भव्यता के साथ सजाया गया। श्रावण मास का महत्व वेद, पुराणों, शास्त्रों व शिवपुराण में भगवान शिव हिन्दू संस्कृति के प्रणेता आदिदेव महादेव हैं।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages