मनुष्य के जीवन के लिए पॉलीथीन बड़ा खतराः सरोज सोनकर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, July 29, 2022

मनुष्य के जीवन के लिए पॉलीथीन बड़ा खतराः सरोज सोनकर

पंचायत भवन बदौसा में कार्यशाला का हुआ आयोजन

बांदा, के एस दुबे । कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित जन शिक्षण संस्थान ने आज स्वच्छता पखवाडा के अर्न्तगत ‘शौचालय के प्रयोग पर जागरूकता एवं सिंगल यूज प्लास्टिक की रोकथाम‘ पर गोष्ठी का अयोजन पंचायत भवन बदौसा में किया गया । जिसमें मुख्य अतिथि ग्राम प्रधान सरोज सोनकर, छत्रपाल सिंह, लेखापाल बदौसा व प्रधानाचार्य शिवकुमार यादव सरस्वती ज्ञानमंदिर बदौसा बाँदा रहे। 


   कायर्क्रम का शुभारम्भ में मुख्य अतिथि सरोज सोनकर ने जन शिक्षण संस्थान के द्वारा किये जा रहे कार्यक्रम की सराहना करते हुए बताया की शौचालय आवश्यक है और उनका प्रयोग भी करें । जिनके घरो में स्वच्छ शौचालय न हों वे भी आयें और मैं उनके यहाँ शौचालय निर्माण भी कराउँगा उन्होने यह भी कहा की पालीथीन जीवन का जीर हैं  इसलिए हम सभी को इस पालीथीन को बन्द करने प्रतिज्ञा लेनी चाहिये। क्योकि यादि पालीथीन खेतो तक पहुँच गई तो खेतों में कुछ भी पैदा नही होगा । पालीथीन से नालियां चोक हो जाती है । जिससें सड़क रास्तो पर गन्दगी फैल जाती है । ग्राम बदौसा के लेखपाल क्षत्रपाल सिंह ने कहा कि स्वच्छता के शौचालयों का प्रयोगा जितना अचछा मातायें बहनें कर सकती है उतना कोई नही कर सकता हैं। क्योकि शौचालय एवं पालीथीन  ये दोनो चीजें घरो सें जुडी हैं। उन्होने यहाँ तक कहा कि  पालीथीन घरो में नही आनी चाहियें सब लोग घर से थैला लेकर सामग्री लेने बाजार जायें प्लास्टिक खाद के साथ उड़ कर खेतो में गई तो बीच को मिटटी  नही मिलेगी और उत्पादन पर प्रभाव पड़ेगा स्वच्छ शौचालस बनें है किन्तु उनका प्रयोग अब भी नही हो रहा  इसलिए हमें जागरूक होना है। प्रधानाचार्य श्री शिवकुमार यादव ने बताया कि घरो में स्वच्छ शौचालयों का प्रयोग हो तो बीमारियों से बचा जा सकता है। उन्होने कहा कि जब लोग प्लास्टिक इकटठा कर उसे जलाते है तो उससे जो धुआ निकालता है वह श्वास एवं अस्थमा वाले रोगीयो के लिए बहुत ही नुकसान देह हैं इसलिए पन्नी जलाये नही। 

जन शिक्षण संस्थान के निदेशक मो0 सलीम अख्तर जी ने बताया की शौचालय के प्रयोग न करके पर खुले में शौच जाने पर हम गन्दगी से डायरिया हैजा जैसी बीमारियो को जन्म देते है । इसलिए हमें स्वच्छ शौचालय का प्रयोग करना चाहिये पालीथीन को जलाने पर कार्बनडाईअक्साइड़ एवं कार्बन मोनोअक्साइड गैस निकालती हैं। जो शरीर के लिए बहुत हानिकारक है इसलिए हमें पालीथीन को रोकना होगा। जन शिक्षण संस्थान के कार्यक्रम अधिकारी सौम्य खरे ने कहा आज को महती आवश्यकता है इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार हर घर को शौचालय देने के लिए कृत संकल्प हैं और हर गांव को ओ0डी0एफ घोषित करना चाहती हं। पन्नी प्लास्टिक पर भी  रोक लगा चुकी है परन्तु हमें भी मानसिक रूप से तैयार होना पड़ेगा की हम इसका प्रयोग न करे। कार्यक्रम अधिकारी संजय पाण्डेय ने कहा कि स्वच्छ शौचालयों का प्रयोग हमारी इज्जत घर कि तरह है जिनसे महिलायें सुरक्षित भी रहती है और बीमारियो से भी बचती है 

कार्यक्रम का समापन में संस्थान के कार्यक्रम अधिकारी सौम्य खरे ने सभी का आभार व्यक्त किया एवं सभी प्रशिक्षणोंपरांत प्रतिभागियो को प्रमाण पत्र के साथ लगभग 125 “नेचर फ्रेडली थैले “ वितरित किये गये। कार्यक्रम में संस्थान के नीरज कुमार लेखाकार लक्ष्मीकान्त दीक्षित,मयंक सिंह शिवांगी द्विवेदी व अनुदेशिकाओं सहित लगभग 100 लोगो की उपस्थिति रही।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages