तापमान कम करने को प्रत्येक व्यक्ति लगाए पौधा : सीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, July 5, 2022

तापमान कम करने को प्रत्येक व्यक्ति लगाए पौधा : सीएम

शीघ्र ही बुन्देलखण्ड के सातों जनपदों में प्राकृतिक खेती की होगी शुरूआत 

कोदंड वन में लगाए जाएंगें रामायणकालीन पौधे

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विकास खण्ड मानिकपुर के ग्राम पंचायत मड़ैयन के मजरा सेहरिन के पास वन महोत्सव के अंतर्गत वृक्षारोपण जन आन्दोलन का मटदर प्रथम वन ब्लाक में पीपल, बरगद, पाकड ़हरिशंकरी पौधरोपण कर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर वन ब्लाक में संत मदन गोपाल दास, महन्त दिव्य जीवनदास, महंत राम मनोहर दास सहित अन्य संतो, वन राज्य मंत्री, सांसद आदि ने भी पौधे रोपे हैं।

सीएम के साथ मंचासीन मंत्री व जनप्रतिनिधि।

मुख्यमंत्री ने वन महोत्सव कार्यक्रम के अवसर पर जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में एक साथ 35 करोड़ वृक्ष लगाने के इस प्रयास में आज 25 करोड़, तीन दिन के अंदर पांच करोड़ व 15 अगस्त के दिन पांच करोड़ पौधे रोपित कर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि चित्रकूट की धरती सनातन काल की परम्परा का केन्द्र रही है। मर्यादा पुरूषोत्तम श्री राम ने अपने वनवास काल के दौरान सर्वाधिक समय यहॉं व्यतीत किया है। ऐसी भूमि को कोटि-कोटि नमन और साधुजनों का स्वागत करता हूॅं। सबका सौभाग्य है कि अपने वनवास काल में उस कालखण्ड में मर्यादा श्री राम ने इस धरती को पवित्र माना था जहां आज वृक्षारोपण कर रहे हैं। त्रेता युग में यहां पर काफी जंगल रहा होगा, परन्तु लगातार जनसंख्या बढ़ने से वन क्षेत्र कम होता जा रहा है। ग्लोबल वार्निंग से लगातार तापमान बढ़ रहा है। जहां हरे-भरे वन होते थे वहां कंक्रीट के घर बन रहे हैं। कहा कि मनुष्य जब प्राकृतिक संसाधन को नष्ट करता है तो उसकी कीमत चुकानी पड़ती है। यह जीवन चक्र है। सबका जीवन एक-दूसरे पर आश्रित है। वनों की कटान होगी तो पर्यावरण असंतुलित होगा और सूखा पड़ेगा। भगवान श्रीराम चित्रकूट कोदण्ड वन कामदगिरि धनुषाकार पर्वत में काफी समय रहे हैं। आज पूरे देश के लोग भगवान श्री कामतानाथ की परिक्रमा करते हैं। यहॉं पर एक-एक कण में देवताओं का वास है। रामायण कालीन सभी वृक्षों को लगाने की व्यवस्था इस कोदण्ड वन में किया जायेगा। अधिक से अधिक वृक्षों का रोपण किया जाये। प्रदेश के समस्त जनपदों में इस महोत्सव को नई ऊचाइयों तक पहुंचाया जाए। सहजन का वृक्ष प्रत्येक गांव में अवश्य लगायें। यह कुपोषण को समाप्त करता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बुन्देखण्ड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास चित्रकूट की पावन धरती से किया था। जिसका जल्द ही पीएम लोकार्पण करेंगें। एयरपोर्ट अथारिटी के लिए एमओयू तैयार कर लिया गया है। शीघ्र ही

अन्न प्रासन 

एयरपोर्ट का संचालन होगा। प्रत्येक विद्यालयों में स्मार्ट क्लास व लाइब्रेरी बनायी जायेगी। पेयजल के भीषण संकट को देखते हुए हर घर नल योजना का कार्य प्रधानमंत्री के मिशन के अंतर्गत हो रहा है। जो हैण्डपम्प सूख गये हैं उसमें जल संरक्षण किया जाये। कहा कि हर ग्राम पंचायत में अमृत सरोवर तालाब बनाये जायेगे। इस मौके पर आयुक्त दिनेश कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री सहित अन्य जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, आम जनमानस का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक साकेत बिहारी शुक्ल ने किया। इस दौरान अपर पुलिस महानिदेशक प्रयागराज प्रेम प्रकाश, पुलिस महानरीक्षक बांदा विपिन कुमार मिश्रा, जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल, पुलिस अधीक्षक अतुल शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, अपर प्रशासन मुख्य वन संरक्षक संजय कुमार श्रीवास्तव, मुख्य वन संरक्षक बुन्देलखण्ड झॉंसी पीपी सिंह, प्रभागीय वनाधिकारी आरके दीक्षित, अपर जिलाधिकारी कुॅंवर बहादुर सिंह, प्रदेश मंत्री जनपद प्रभारी देवेश कोरी, पूर्व सांसद रमेश चन्द्र द्विवेदी, विधान परिषद सदस्य जितेन्द्र सिंह सेंगर, पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष रंजना उपाध्याय, नगर पालिका अध्यक्ष नरेन्द्र गुप्ता आदि मौजूद रहे।

 

गोद भराई करते सीएम।

बच्चे को कराया अन्न प्रासन, गर्भवती की गोद भ्राई की

चित्रकूट। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न विभागों की योजनाओं की प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए बाल विकास पुष्टाहार विभाग की प्रदर्शनी स्टाल पर श्रद्धा बड़ी मड़ैयन को अन्न प्रासन, गर्भवती महिला लक्ष्मी देवी की गोद भराई की। संत महात्माओं से भेंट कर कुशलक्षेम पूछा। 



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages