वाह प्रधान जी कागजों पर काम करा हड़पे बीस लाख - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, July 18, 2022

वाह प्रधान जी कागजों पर काम करा हड़पे बीस लाख

पुराने काम को नया दिखाकर ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी ने निकाली रकम

खागा/फतेहपुर, शमशाद खान । केंद्र सरकार ने ग्रामीण स्तर पर जॉब कार्ड धारकों को 100 दिन का काम सुनिश्चित करने के लिए मनरेगा योजना शुरू की थी मंशा यह थी कि जॉब कार्ड धारकों को रोजगार के साथ-साथ सड़क व नाला निर्माण सहित समतलीकरण व तालाब की खुदाई आदि योजनाओं- परियोजनाओं के रूप में काम दिया जाएगा। ग्राम पंचायतों में मनरेगा के तहत कार्य करने की योजना तो बनती है लेकिन उसमें ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों व सचिव द्वारा जमकर दुर्दशा की जा रही है। 

अधूरे पड़े कार्य का दृश्य।

ऐरायां ब्लाक के कोडारवर गांव में वित्तीय वर्ष 2021-22 में तालाब खुदाई कागजों में मुकम्मल कर दिया गया है। जबकि जमीनी स्तर पर कोई काम नहीं हुआ है। ग्रामीणों के विरोध के बाद मामला पटल पर आया कि उक्त योजना में बिना काम के ही भुगतान का मामला सामने आया है। ऑनलाइन सिस्टम में सेंधमारी कर फर्जी मजदूरों द्वारा फर्जी काम करने की एंट्री करा कर लाखों रुपयों का पेमेंट निकाला गया है। मनरेगा के नाम पर किए गए कई कामों में गड़बड़झाला किया गया है। कराए गए कामों का वजूद गांव में खोजे नहीं मिल रहा है। जिम्मेदार इससे अनजान होने की बात करते हुए पल्ला झाड़ रहे हैं। गांव में बंदी तालाब में 20 आदमी लगाकर घास की साफ सफाई करने के बाद एक लाख 90 हजार रुपए निकाल लिए गए। वहीं कसीना अमृत सरोवर की खुदाई का काम दिखाकर 12 लाख हजार रुपए हड़प लिए गए। शिकायतकर्ता ने बताया कि चौकसी तालाब प्रथम व द्वितीय की खुदाई और के नाम से सात लाख 28 हजार रुपए की रकम निकाल ली गई है। गांव के पूर्व प्रधान रनमन यादव ने बताया कि गांव में एक ही आदमी के नाम से दो-दो जाब कार्ड बने हुए हैं। जिनका बराबर पैसा निकल रहा है। ग्राम प्रधान अपने ही भाई-भतीजे के नाम जॉब कार्ड बना रखे हैं जिनके नाम से बराबर भुगतान निकाल रहा है। बताया जाता है कि प्रधान के भाई सर्वजीत सिंह गांव में वित्तविहीन विद्यालय में अध्यापक भी हैं। वह पढ़ाने के साथ-साथ मनरेगा में भी काम करते हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि कागजों में सरकारी घोड़ा दौड़ा कर धन का दुरुपयोग किया गया है। ग्राम प्रधान रामजीत ने तीन सड़क निर्माण के नाम पर तीन लाख 80 हजार का घोटाला किया है। मामले में वीडियो अशोक कुमार का कहना है कि शिकायत मिली है जिसके आधार पर जेई, एपीओ और सेक्टर ऑफिसर की एक टीम बना दी गई है, जो मौके पर जाकर जांच करेंगे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages