भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में पीसीआरए, उतरी क्षेत्र द्वारा आयोजित साइक्लोथॉन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, July 25, 2022

भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में पीसीआरए, उतरी क्षेत्र द्वारा आयोजित साइक्लोथॉन

रिपोर्ट देवेश प्रताप सिंह राठौर

झाँसी, 25 जुलाई: पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ-पीसीआरए, उतरी क्षेत्र ने साइक्लोथॉन का आयोजन किया।  डॉ. मुकेश पाण्डेय, कुलपति बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय, झाँसी  इस अवसर पर मुख्य अतिथि थे। इस साइक्लोथॉन में 250 से ज़्यादा छात्रों और छात्राओं  ने सक्रिय सहभागिता दिखाई एवं सिविल डिफेंस, एनसीसी, स्काउट एंड गाइड, बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय, गवर्नमेंट गर्ल्स इंटर कॉलेज, भारती फिजिकल अकैडमी, बाबू क्लब, एस.पी.आई इंटर कॉलेज, रेलवे इंस्टीट्यूट झाँसी, इंस्टिट्यूट अकैडमी, महाराजा अग्रसेन इंटर कॉलेज व अन्य स्कूलों एवं संस्थानों के छात्रों और छात्राओं ने भाग लिया।  


पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ (पीसीआरए) भारत सरकार के पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अधीन 1978 में स्थापित एक संगठन है जो अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने में समर्पित है। यह संगठन पेट्रोलियम पदार्थों पर भारत की विदेश - निर्भरता को कम करने, आर्थिक दक्षता बढ़ाने व पेट्रोलियम पदार्थों  के उपयोग के पर्यावरणीय प्रभाव को कम करने और ईंधन के संरक्षण के उद्देश्य से नीतियों और रणनीतियों को प्रस्तावित करने में सरकार की मदद करता है। 


आजादी का अमृत महोत्सव की आधिकारिक यात्रा 12 मार्च 2021 को शुरू हुई, जिसमें हमारी स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के लिए 75-सप्ताह की अवधि शुरू हुई जो कि 15 अगस्त 2023 को समाप्त होगी।  आजादी का अमृत महोत्सव आजादी के 75 साल और इसके लोगों, संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास को मनाने के लिए भारत सरकार की एक पहल है।

इस पहल के बारे में जानकारी देते हुए पीसीआरए (उत्तरी क्षेत्र) के मुख्य क्षेत्रीय समन्वयक, श्री उमेश प्रसाद सिंह ने साझा किया कि हमारे देश पर गर्व महसूस करने के प्रयास में, वे भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में ऐसी कई पहल कर रहे हैं।


इस अवसर पर डॉ. मुकेश पाण्डेय ने भाग लेने वाले स्कूलों के प्रतिनिधियों को सम्मानित किया और पीसीआरए के नेक प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि इस तरह के कार्यक्रम हमेशा एकता की भावना को बढ़ावा देते हैं जिससे देश के नागरिक एक साथ आते हैं, और एक दूसरे को समझते हुए एक साथ जश्न मनाते हैं। उन्होंने आगे कहा कि  "शहर के प्रमुख संस्थानों के 250 से ज़्यादा छात्रों और छात्राओं ने 'आजादी का अमृत महोत्सव' की इस भावना को फैलाने के लिए प्रेरित किया है, जो आज कई अन्य लोगों को स्पष्ट रूप से प्रेरित करेगा।"

इस अवसर के मुख्य अतिथि, डॉ. मुकेश पाण्डेय ने राजा गंगाधर राव कला मंच से साइकिल रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया, जो कि जीवनशाह चोराहा, बी. के. डी चोराहा, खण्डेराव गेट से होते हुए वापस राजा गंगाधर राव कला मंच में समाप्त हुई।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages