सीडीओ ने पहले 1000 दिन परियोजना का किया शुभारंभ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, July 12, 2022

सीडीओ ने पहले 1000 दिन परियोजना का किया शुभारंभ

बच्चों के शुरूआती विकास को लेकर माता-पिता के अलावा नागरिकों को करें जागरूक

अच्छा कार्य करने वाली आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को किया जाएगा सम्मानित

फतेहपुर, शमशाद खान । विकास भवन सभागार में पहले 1000 दिन परियोजना का मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश ने दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि परियोजना नीति आयोग और बर्नार्ड वैन लीयर फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में विक्रम शिला एजूकेशन रिसोर्स सोसाइटी के जरिए जनपद में कार्यान्वित की जा रही है। इस परियोजना के शुभारंभ का उद्देश्य जिला प्रशासन, एकीकृत बाल विकास सेवा (आईसीडीएस) स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग और पंचायती राज संस्थानों (पीआरआई) सहित विभिन्न हित धारकों को कार्यक्रम के बारे में सूचित करना और समुदाय केंद्रित प्रयासों के माध्यम से इसके सफल कार्यान्वयन के लिए संबंधित विभाग अपने-अपने दायित्वों को निवर्हन करके अपनी सकरात्मक भूमिका का परिचय दें। बच्चों के शुरुआती विकास के बच्चों के माता-पिता, समुदाय के नागरिकों को भी जगरूक किया जाए। अच्छा कार्य करने वाली आँगनबाडी कार्यकत्रियों को सम्मानित किया जाएगा।

पहले 1000 दिन परियोजना का शुभारंभ करते सीडीओ व अन्य।

सीडीओ ने कहा कि इस परियोजना का उद्देश्य पहले 1000 दिनों में बच्चों की संवेदनशील देखभाल और प्रारंभिक सीखने के अवसरों को बढ़ाकर उनके समय विकास में सहयोग देना है। इसका लक्षय माता-पिता को संवेदनशील देखभाल से संबंधित विषयों पर सूचित करना और अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं की क्षमता का निर्माण करना है। इसके अंतर्गत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता और सहायक नर्स मिडवाइफरी (एएनएम) को पेरेंट कोच के रूप विकसित किया जाएगा। अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता के रूप में काम करने वाले इन पेरेंट कोचों से परिवारों और समुदाय को संवेदनशील देखभाल के संदेश दिए जाएंगे। जिला कार्यक्रम कार्यालय के समर्थन से विक्रमशिला द्वारा कार्यक्रम को तीन चरणों में लागू किया जाएगा। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 भी तेजी से मस्तिष्क विकास की उम्र के रूप में 0-3 वर्ष के बीच की अवधि के महत्व पर जोर देती है। उन्होंने कहा कि पहले 1000 दिन का कार्यक्रम बच्चों के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। उन्होंने जिला प्रशासन की ओर से हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया। भारत प्रतिनिधि बीवीएलएफ रुश्दा मजीद ने कहा कि बच्चे के जीवन के पहले 1000 दिन विकास की एक महत्वपूर्ण अवधि है, और इस अवधि के दौरान प्राप्त पालन पोषण और देखभाल का उनके समग्र विकास पर प्रभाव पड़ता है जो जीवन भर रहता है। विक्रमशिला एजूकेशन रिसोर्स सोसाइटी की वरिष्ठ प्रबंधक नमृता रावत ने कहा कि हम नीति आयोग और बर्नार्ड फाउंडेशन के साथ इस प्रतिष्ठित साझेदारी का हिस्सा बनकर सम्मानित महसूस कर रहे हैं। नीति आयोग भारत सरकार के शीर्ष सार्वजनिक नीति के लिए प्रबुद्ध मंडल के रूप में कार्य करता है, और एक नोडल एजेंसी है जो आर्थिक विकास को उत्प्रेरित करने और भारत के राज्य सरकारों को आर्थिक नीति-निर्माण की प्रक्रिया में शामिल करके सहकारी संवाद को बढ़ावा देने का काम करती है। भारत सरकार के लिए रणनीतिक और दीर्घकालिक नीतियों और कार्यक्रमों को तैयार करने के अलावा, नीति आयोग केंद्र, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को प्रासंगिक तकनीकी सलाह भी प्रदान करता है। इस अवसर पर जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी जोगेंद्र सिंह यादव, डीपीओ साहेब यादव के साथ आईसीडीएस, स्वास्थ्य, शिक्षा, पंचायती राज संस्थानों और गैर सरकारी संगठनों के पदाधिकारियों सहित अन्य सम्बंधित उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages