विद्युतीकरण होने के बाद भी नसीब नहीं हुई रोशनी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, June 24, 2022

विद्युतीकरण होने के बाद भी नसीब नहीं हुई रोशनी

कागजी दस्तावेजों में घर-घर जल रहे बल्ब

खागा/फतेहपुर, शमशाद खान । विजयीपुर विकास खंड के सबसे बड़ी ग्राम सभा गढ़ा मजरे चतुरपुर गांव में लगभग 15 वर्ष पूर्व विद्युतीकरण होने के बावजूद ग्राम वासियों को आज तक बिजली की रोशनी नसीब नहीं हो पा रही है। जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने विद्युत उपकेंद्र किशनपुर सहित मुख्यमंत्री पोर्टल पर आईजीआरएस भी किया लेकिन समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है। संबंधित अधिकारियों के कानों में जूं तक नहीं रेंग रहे हैं।

गांव में विद्युतीकरण का दृश्य।

विकास खंड विजयीपुर अंतर्गत चतुरपुर मजरे गढ़ा गांव में लगभग 15 वर्ष पूर्व बसपा सरकार के सांसद महेंद्र निषाद की पहल पर रिलायंस कंपनियों ने टेंडर लेकर विद्युत लाइन खिंचवा दिया था लेकिन कई दशक बीत जाने के बावजूद भी आज तक उन खंभों पर कनेक्शन नहीं किया गया और विभागीय लापरवाही के चलते कागजी अभिलेखों में लाइन चालू कर दी गई और उपभोक्ताओं के घर में मीटर भी लगा दिया गया कई बार उनके विद्युत विभाग द्वारा अनुमानित बिल भी जारी कर दिया गया। वहीं हैरान उपभोक्ताओं ने नजदीकी उपकेंद्र किशनपुर में लिखित शिकायत उच्चाधिकारियों सहित मुख्यमंत्री पोर्टल पर आईजीआरएस किया लेकिन आज तक अधिकारियों के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही। ग्रामवासी उदय भान, सूरजभान चंद्र, नरेश, राकेश, अनिरुद्ध, राज बाबू, शिवलाल, अशोक, ओम प्रकाश, छोटू अमरनाथ आदि ने बताया कि यमुना कटरी का यह गांव निषाद समाज का पुरवा है। जिसमें चुनाव के समय वोट लेने के लिए जनप्रतिनिधि अपना ही हितैषी मानकर वादे कर चले जाते हैं और उन्होंने बताया कि लगभग 600 आबादी का गांव है और वर्ष 2004-05 में किस योजना के तहत रिलायंस कंपनियों द्वारा कब लाइन खींची गई। उसी समय मीटर भी लगा दिए गए और उस कंपनियों द्वारा क्या गलतियां हुई कि लाइन आज तक नहीं चालू हो पायी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages