आशियाना बचाने को लामबंद हुए गरीब-मजदूर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, June 4, 2022

आशियाना बचाने को लामबंद हुए गरीब-मजदूर

घर गिराने की चेतावनी पर एसडीएम से लगाई फरियाद

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। एक तरफ प्रदेश के मुख्यमंत्री गरीबों की झोपड़ियां हटाने के पूर्व आवास देकर बसाने की घोषणा करते हैं वहीं दूसरी ओर संबंधित नगर पालिका व अन्य अधिकारियों की सह पर अनाउंस कराकर गरीबों के आशियाने गिराने की चेतावनी दी जा रही है। पीड़ित दर्जनों मजदूरों ने इस आशय का पत्र उप जिलाधिकारी को भेज कर आवासीय मकान गिराए जाने से बचाए जाने की फरियाद लगाई है। 

जानकारी देते गरीब मजदूर।

मुख्यालय स्थित राजापुर-पहाड़ी मार्ग के किनारे बसे दर्जनों गरीबों ने उप जिलाधिकारी को लिखे पत्र में कहा है कि बिजली पावर हाउस के सामने 50 वर्ष से ज्यादा समय से झोपड़ी बनाकर जीवन यान करते हैं। मजदूरी कर बच्चों का भरण पोषण कर रहे हैं, लेकिन जब से बुल्डोजर का चलन आया तब से रोजाना कोई न कोई पहुंचकर घर गिराने की धमकी देते हैं। मजदूरों ने कहा है कि 15 वर्ष पूर्व भी संबंधित लेखपाल ने मकान गिराने की घोषणा की थी। जिसकी जानकारी जिला प्रशासनिक अधिकारों को दिए जाने पर कार्यवाही रोक दी गई थी। मजदूरों ने एक स्वर से बताया कि आधार कार्ड, वोटर लिस्ट, राशनकार्ड, पहचान पत्र इन्हीं मकानों से बनाए गए हैं। गत दिवस आशियाने गिराने की धमकी दी गई है। मजदूरों का कहना है कि जान भले ही चली जाए बच्चों सहित अपने मकानों की रक्षा करेंगे। मांग की है कि घर गिराने से रोका जाए। इस मौके पर संतोष कुमार, अशोक कुमार, कल्याण, बाबूलाल, रामप्रसाद, अर्जुन प्रसाद, नूरजहां, सलमान कुरेशी, खातून, फिरोज, राकेश गुप्ता, चंद्रपाल, सुरेश, चुनरिया, शिवदास, रामलाल, धनराज, मोहनलाल, श्रीकृष्ण, छोटू, इंद्रायण, गोमती, सेनापति, उमा, लक्ष्मण, गुड़िया, आशा, सपना, माया देवी, ज्ञान देवी, बुधिया, करीना, मदीना, हाफिज, अल्ला रक्खा, रामप्यारी, मधु देवी, राजकुमार, आयुष, अजय, राजू, धर्मेंद्र, शिवानी आदि सैकड़ों मजदूर मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages