लोकतंत्र का सबसे काला दिन था इमरजेंसी : रामप्रकाश - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, June 26, 2022

लोकतंत्र का सबसे काला दिन था इमरजेंसी : रामप्रकाश

भाजयुमो ने आयोजित किया सम्मान समारोह

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। भारतीय जनता युवा मोर्चा ने रविवार को बेड़ी पुलिया स्थित जिला कार्यालय में लोकतंत्र सेनानी सम्मान समारोह का आयोजन किया। इस मौके पर मुख्य अतिथि लोकतंत्र सेनानी रामप्रकाश द्विवेदी ने अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने कहा कि 25 जून 1975 लोकतंत्र का सबसे काला दिन था।

लोकतंत्र सेनानी रामप्रकाश द्विवेदी ने कहा कि आपात काल में जेल में बर्बरतापूर्ण यातनाएं दी गईं। उनको भूला नहीं जा सकता। विशिष्ट अतिथि भाजयुमो के प्रदेश महामंत्री वरुण गोयल ने कहा कि भाजपा हमेशा लोकतंत्र

लोकतंत्र सेनानी को सम्मानित करते पदाधिकारी।

सेनानियों के साथ रही है। आज लोकतंत्र रक्षकों की वजह से ही लोकतंत्र मजबूत हो रहा है। भाजपा जिलाध्यक्ष चंद्रप्रकाश खरे ने कहा कि भाजपा सरकार में पारदर्शी प्रक्रिया को बढ़ावा दिया जा रहा है। पूर्व सांसद भैरों प्रसाद मिश्र ने कहा कि इस लोकतंत्र को जो भी खतरा पहुंचाने की कोशिश करेगा वह कांग्रेस की तरह समाप्त होने की राह पर चलेगा। क्षेत्रीय मंत्री दुर्गेश शुक्ला ने भी आपातकाल को लोकतंत्र का सबसे बुरा समय बताया। प्रदेश कार्यसमिति सदस्य पंकज तिवारी ने कहा कि युवा मोर्चा ने समाज में अच्छा काम करने वालों को हमेशा सम्मानित किया है। इस मौके पर मुख्य अतिथि के साथ अन्य लोकतंत्र सेनानियों ननकूराम राजपूत, भागीरथ प्रसाद गांधी, प्रेमनारायण गुप्ता को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में अश्वनी अवस्थी, दिनेश तिवारी, मोहित मिश्रा, अंजू वर्मा, राजेश्वरी द्विवेदी, राजेश जायसवाल, दिव्या त्रिपाठी, विनीता द्विवेदी, राखी, गौरव करवरिया, घनश्याम पटेल, अमन पटेल, देवकीनंदन पांडेय, भानु पांडेय, श्याम गुप्ता, श्रवण पटेल, अजय मिश्रा, उत्तम चौहान आदि मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages