श्रीकृष्ण और सुदामा के मिलन देख दर्शक हुए भाव विभोर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, June 17, 2022

श्रीकृष्ण और सुदामा के मिलन देख दर्शक हुए भाव विभोर

अतर्रा/बांदा, के एस दुबे । कस्बे के नरैनी रोड नगर पालिका के समीप मालिक सदन पर चल रही संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के सातवें एवं अंतिम दिन भागवत आचार्य डा. शिव प्रसाद शुक्ला ने सुखदेव जी की विदाई,  श्रीमद् भागवत कथा आवरण,  सुदामा चरित्र का प्रसंग सुनाया। भगवान राधा कृष्ण के भजन सुन श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए। फूलों की होली खेलकर  कार्यक्रम के समापन की घोषणा हुई।


मध्य प्रदेश से आए हुए कथा व्यास डा. शिव प्रसाद शुक्ला ने बताया कि गुरु के साथ कपट और मित्र से चोरी करने वाला व्यक्ति दरिद्र होता है स  बताया कि आश्रम में शिक्षा ग्रहण करने के दौरान सुदामा ने मित्र कृष्ण की नजर बचाकर गुरु के दिए चने अकेले ही खा लिए, जिस कारण वह दरिद्र हुए। न सुदामा ने जब पत्नी को कृष्ण की दोस्ती के बारे में बताया तो उन्होंने जीवन निर्वाह के लिए कृष्ण से धन लाने को कहा। द्वारिका पुरी में भगवान कृष्ण ने आंसुओं से उनके पैर धो डाले और अलौकिक वरदान देकर घर भेजा।कथा के उपरांत कथा श्रोता सरजू ने व्यासपीठ की आरती उतार कर प्रसाद वितरित कराया।आयोजक मृत्युंजय द्विवेदी ने बताया शनिवार को हवन के बाद ब्राह्मण भोज, भव्य भंडारे का आयोजन आयोजित किया जाएगा।इस दौरान कथा में पूर्व ब्लाक प्रमुख राजकुमार गौतम,  डॉ शिवदत्त तिवारी (कानपुर), विधिक सलाहकार ब्रह्मदत्त शुक्ला, रमाकांत चौरिहा,कुलदीप द्विवेदी, महेंद्र उपाध्याय, रज्जन चौरिहा, नरेंद्र ओझा, हनुमान सिंह, अजय द्विवेदी, दिनेश गुप्ता, हर्षवर्धन तिवारी, केके दीक्षित, अमित भारद्वाज, सहित 2 सैकड़ा से अधिक महिलाएं पुरुष भक्त उपस्थित रहे।



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages