सड़क मरम्मत में खानापूर्ति से जल्द ही बिगड़ेगी रोड की सूरत - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, June 14, 2022

सड़क मरम्मत में खानापूर्ति से जल्द ही बिगड़ेगी रोड की सूरत

महिचा-हथगाम मार्ग की मरम्मत में विभाग कर रहा खानापूर्ति 

12 किमी सड़क मरम्मत कार्य जुलाई महीने में काम होगा पूर्ण 

खागा/फतेहपुर, शमशाद खान । प्रयागराज-कानपुर हाईवे से हुसेनगंज-कड़ा मार्ग को जोड़ने वाले महिचा-हथगाम मार्ग की मरम्मत विभाग ने शुरू करा दी। मरम्मत में जिस प्रकार की सामग्री प्रयुक्त हो रही है, उससे जल्द ही गड्ढे होने की चिंता ग्रामीणों को सता रही है। ग्रामीणों का आरोप है कि बोल्डर के साथ चूरा मिलाकर डालने से तारकोल की पकड़ कमजोर रहेगी। विभागीय अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

महिचा-हथगाम मार्ग बेहद ध्वस्त हालत में पहुंच चुका था। कई बार इस सड़क की मरम्मत के लिए क्षेत्रीय लोगों ने आला-अधिकारियों को शिकायती पत्र दिए। संवत गांव के रहने वाले कांग्रेसी नेता शिवाकांत तिवारी ने लोक निर्माण मंत्री से मुलाकात करके 12 किमी सड़क की मरम्मत कराने की मांग की थी। एक सप्ताह पहले ही विभाग ने मार्ग मरम्मत शुरू करा दी। महिचा मंदिर की ओर से सड़क की मरम्मत जारी है। बड़े गड्ढों को भरने के लिए बोल्डर प्रयुक्त किया जा रहा है। संवत गांव निवासी सुरेश कुमार, उदयभान, अजय, आदर्श तिवारी, कल्लू साहू-कुल्हड़िया, छोटेलाल-रखेलपर आदि ग्रामीणों का कहना था कि बोल्डर में भारी मात्रा में चूरा प्रयुक्त किया जा रहा है। धूल के साथ बोल्डर प्रयोग किए जाने से तारकोल की पकड़ कमजोर रहेगी।

सड़क मरम्मतीकरण कार्य में लगे मजदूर।

20 गांव के लोगों का होता आवागमन

खागा-फतेहपुर। महिचा मंदिर, संवत, रखेल, अजईपुर, कुल्हड़िया, बंदीपुर, खरहरा, इशाकपुर, पैगम्बरपुर, राजापुर, बुसहरा, कोर्रवां, सिठौरा, शाहपुर, हथगाम समेत 20 गांवों के लोग इस मार्ग से आवाजाही करते हैं।

मार्ग पर एक नजर

महिचा-हथगाम मार्ग

लंबाई- 12 किमी

मरम्मत वर्ष- 2019-20

समस्या- गड्ढायुक्त मार्ग

निकलते वाहन- बस, ट्रक, ट्रैक्टर, चार पहिया व बाइक समेत 500 वाहन प्रतिदिन

जिम्मेदार संस्था- लोक निर्माण विभाग

महिचा-हथगाम मार्ग की मरम्मत शुरू है। 11.175 किमी लंबाई वाले मार्ग का संपूर्ण कार्य जुलाई प्रथम सप्ताह में पूर्ण कराया जाएगा। इसमें 1.82 करोड़ रुपये का बजट खर्च होगा। बोल्डर के साथ चूरा मिलाकर डालने की जानकारी नहीं है। औचक निरीक्षण में इसकी जांच की जाएगी- राकेश कुमार गोयल, जेई पीडब्लूडी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages