योग भारतीय संस्कृति की विश्व को अद्भुत देन - प्रो मुकेश पांडे - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, June 22, 2022

योग भारतीय संस्कृति की विश्व को अद्भुत देन - प्रो मुकेश पांडे

रिपोर्ट...देवेश प्रताप सिंह राठौर


योग दिवस पर बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में हुआ वृहद आयोजन

झांसी। 21 जून विश्व में आज योग दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। योग भारतीय संस्कृति की वैश्विक जगत को अद्भुत देन है। उक्त विचार बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मुकेश पांडे ने राजीव गांधी इनडोर स्टेडियम में आयोजित योग कार्यक्रम में व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि पश्चिमी शैली के जीवन यापन को अपनाकर हमने अपने स्वास्थ्य के लिए विकट संकट उत्पन्न कर दिया है। आज जब उसके दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं तब केवल भारत ही नहीं संपूर्ण विश्व भी योग को एक समाधान के रूप में देख रहा है। योग कोई धार्मिक अनुष्ठान नहीं है बल्कि शारीरिक व्यायाम है। जिसके माध्यम से शरीर को संपूर्ण रूप से स्वस्थ रखा जा सकता है। अब समय आ


गया है कि योग को आयोजन से निकालकर हमें इसे नियमित दिनचर्या में अपना लेना चाहिए। विश्वविद्यालय परिसर में शारीरिक शिक्षा विभाग के नेतृत्व में 10 दिन से चल रहे योग शिविर का भी आज योग दिवस के अवसर पर समापन हुआ। डॉक्टर श्वेता पांडे एवं डॉ उमेश कुमार के नेतृत्व में सृजन: ड्राइंग एवं पेंटिंग क्लब द्वारा मानवता के लिए योग विषय पर पेंटिंग का आयोजन किया गया। विजेता छात्रों को कुलपति द्वारा प्रमाण पत्र वितरित किए गए।बुंदेलखंड विश्वविद्यालय की एनसीसी महिला एवं पुरुष विंग के साथ ही एनएसएस के छात्रों ने भी योग में बढ़-चढ़कर भागीदारी की। राजीव गांधी इनडोर स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के शिक्षकों

एवं छात्रों ने सहभागिता की। शारीरिक शिक्षा विभाग के छात्र छात्राओं ने योग के अनेक आसनों का मंचन किया। सभी ने इन आसनों का अनुसरण किया। इस अवसर पर कुल सचिव विनय कुमार सिंह, वित्त अधिकारी वसी मोहम्मद, परीक्षा नियंत्रक राजबहादुर, अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रोफेसर सुनील कुमार काबिया, कुलानुशासक प्रोफेसर आरके सैनी, प्रोफेसर एसपी सिंह प्रोफेसर सीबी सिंह प्रोफेसर एमएम सिंह, स्पोर्ट्स ऑफिसर डॉक्टर सूरज पाल सिंह के साथ अनेक शिक्षकों ने सहभागिता की।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages