सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक्स-रे की मशीनें पड़ी बंद - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, June 2, 2022

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक्स-रे की मशीनें पड़ी बंद

मरीजों को लिखी जाती है बाहर की दवा

जसपुरा/बांदा, के एस दुबे । प्रदेश की योगी सरकार चाहे जितने दावे करे की उत्तर प्रदेश में गरीब तबके के लोगों को सरकारी अस्पताल में सभी सुविधाएं दी जाती है। लेकिन आज भी जसपुरा समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जो बांदा जिले का ऐसा स्वास्थ्य केंद्र है जहां पर मरीजों को बाहर की दवा लिखी जाती हैं और इलाज के नाम पर कमीशन खोरी जारी है एक्सरा मशीन कई सालों से खराब पड़ी हुई है जहां के अधीक्षक पवन पटेल जो अपने निजी अस्पताल से उन्हें फुर्सत नहीं मिलती जो हफ्ते में एक या दो दिन ही समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र आते हैं बाकी दिन अपने प्राइवेट अस्पताल में नजर आते हैं और मरीजों को सीधा अपने निजी अस्पताल भेजते हैं। जसपुरा कस्बे के रहने वाले हैं


राजेंद्र ने आरोप लगते हुए बताया कि जसपुरा स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक साहब कभी भी नहीं यहां रहते जो अपने निजी अस्पताल कानपुर में ही रहते हैं मरीजों को कमीशन खोरी के चक्कर में बाहर की दवा लिखी जाती हैं और यहां पर एक्सरा मशीन भी है लेकिन एक्सरा के लिए बाहर भेजा जाता है। जो यहां के अधीक्षक हैं वह अपने आप को जिलाधिकारी के रिश्तेदार बताते हैं। कई बार शिकायत की गई है लेकिन अभी तक कोई भी कारवाही अधीक्षक के ऊपर नहीं हुई। वही स्वास्थ्य केंद्र में तैनात एल टी शैलेंद्र यादव द्वारा मरीजों से बदतमीजी की जाती है जो अपने आपको अखिलेश यादव के करीबी बताते हैं। जब पूरे मामले की जानकारी जसपुरा समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से अधीक्षक पवन पटेल से की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि में अस्पताल आता हूं किसी कारण कभी-कभी काम लग जाता है तो नहीं आ पाता और मरीजों को बाहर की दवा अगर डाक्टर द्वारा लिखी जाती है तो उसे जरूर देखता हूं।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages