9 जून गंगा दशहरा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, June 8, 2022

9 जून गंगा दशहरा

ज्येष्ठ शुक्ल दशमी के दिन ही भागीरथ गंगा को धरती पर लायें थे। इस दिन गंगा धरती पर अवतरण हुई थी जिसे हम गंगा दशहरा के नाम से मनाते है इस वर्ष गंगा दशहरा 9  जून, गुरुवार  को है। पौराणिक मान्यता के अनुसार जेठ  मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि के दिन हस्त  नक्षत्र में मां गंगा स्वर्ग से पृथ्वी पर आई थी इस साल हस्त नक्षत्र  9 जून  गुरुवार को प्रातः 4:32 से लेकर 10 जून शुक्रवार प्रातः 4:26 बजे तक रहेगा जबकि दशमी तिथि 9 जून को प्रातः 8:22 से प्रारंभ होकर 10 जून प्रातः 7:25 तक रहेगी इसे ‘‘गंगावतरण’’ भी कहते है गंगा दशहरा को गंगा आदि पवित्र नदियों में स्नान  दान पुण्य का विशेष महत्व है। मान्यता है कि भगीरथ के 60 हजार पूवर्जो को कपिल मुनि का श्राप मिला था जिसकी वजह से राजा भागीरथ ने गंगा को धरती पर लाने के लिए घोर तपस्या की


तब प्रसन्न होकर गंगा जी प्रकट हुई। मां गंगा मोक्षदायिनी और समस्त पापों का नाश करने वाली और अक्षय पुण्य फल प्रदान करने वाली है। इनकी महिमा पुराणों में भी की गई है। तुलसी दास जी ने भी कलयुग में सदगति के लिये श्रीराम और देव नदी गंगा का पवित्र जल को ही आधार माना है। हिन्दु संस्कृति में किसी भी शुभ कार्य/शुद्धि के लिये गंगा जल प्रयोग में लाते है। इस पर्व पर वाराणसी में लाखों लोग गंगा स्नान करके दशवमेघ घाट पर भव्य आरती करते है, अगर गंगा में स्नान न कर सके तो घर में नहाने के पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान करें और  गंगा  जी का पूजन करे इस दिन 10 अंक का विशेष महत्व है पूजा करते समय सभी सामग्री को 10 की मात्रा में चढ़ाएं जैसे 10 फूल 10 दीपक 10 फल आदि इस दिन दान का भी महत्व है। ऐसा करने वाला महापातकों के बराबर के दस पापों से छूट जाता है।

 -ज्योतिषाचार्य एस.एस.नागपाल, स्वास्तिक ज्योतिष केन्द्र, अलीगंज, लखनऊ

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages