धाता-हिनौता मार्ग पर गड्ढे ही गड्ढे, कैसे हो सफर आसान - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, May 11, 2022

धाता-हिनौता मार्ग पर गड्ढे ही गड्ढे, कैसे हो सफर आसान

हिनौता मोड़ तक सफर कर जान जोखिम में डाल रहे वाहन सवार

खागा/फतेहपुर, शमशाद खान । कस्बा से हिनौता मोड़ तक 12 किलोमीटर सड़क पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। इधर से राजापुर, चित्रकूट, बांदा, बबेरू, सतना, मैहर आदि स्थानों के लिए दिन-रात वाहन निकलते हैं। आबादी के अंदर सड़क निर्माण संस्था ने वर्षों पहले सीसी मार्ग बनाया था। जल निकासी के लिए नाला-नालियों का निर्माण न कराए जाने से सीसी मार्ग सभी जगह टूटने के साथ ही धंस चुका है।

वर्ष 2016 में धाता कस्बा से लेकर हिनौता, कौशांबी मोड़ तक लोक निर्माण विभाग ने 12 किलोमीटर सड़क का निर्माण कराया था। आबादी के अंदर सड़क को नुकसान न हो, इसके लिए वहां पर सीसी मार्ग बनाया गया। लाल बहादुर सिंह, रामसुहावन सिंह, अमित सिंह, राजेश पासवान, बड़कू तिवारी आदि ग्रामीणों ने बताया कि तीन साल बाद ही तारकोल तथा पक्की सड़क दोनों ही क्षतिग्रस्त हो गई। इधर से दिन-रात ट्रक, डंपर, बस, जीप, कार व ट्रैक्टर आदि वाहनों का आवागमन होता है। कई रोडवेज बसें इसी मार्ग से हर रोज चित्रकूट, प्रयागराज, कानपुर आदि शहरों के लिए सवारियां बिठाकर निकलती हैं। धाता बाईपास, सोनारी, अढौली, कबरहा तथा बम्हरौली गांव के अंदर सड़क बेहद खराब स्थिति में पहुंच चुकी है। सोनारी गांव के अंदर आधी सड़क धंस चुकी है। जानलेवा गड्ढों के पास से निकलने में वाहन सवार हर रोज जोखिम उठाते हैं।

धाता-हिनौता मार्ग।


खराब सड़क पर एक नजर

धाता-हिनौता मार्ग

लंबाई- 12 किलोमीटर

निर्माण- वर्ष 2016-17

लागत- 14 करोड़ रुपये

मरम्मत- वर्ष 2019

गुजरते वाहन- ट्रक, रोडवेज बस, प्राइवेट बस, कार, ट्रैक्टर समेत दो हजार वाहन

संस्था- लोक निर्माण विभाग

वर्जन 

हिनौता मार्ग पर आबादी के अंदर कई जगह पानी आने से नुकसान हुआ है। भवन स्वामियों को कई बार चेतावनी भी दी गई। मार्ग मरम्मत का एस्टीमेट बनाकर शासन को भेजा जा चुका है। जल्द ही मार्ग की मरम्मत शुरु होगी- रामलखन, जेई लोक निर्माण विभाग


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages