एक्सरे के नाम पर वसूली पर भड़के मंत्री, चिकित्सक पर कार्रवाई के निर्देश - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, May 1, 2022

एक्सरे के नाम पर वसूली पर भड़के मंत्री, चिकित्सक पर कार्रवाई के निर्देश

कैबिनेट मंत्री ने रविवार को जिला अस्पताल का किया निरीक्षण, देखी व्यवस्थाएं 

बांदा, के एस दुबे । जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण करने पहुंचे सूबे के पर्यटन एवं संस्कृति विभाग के कैबिनेट मंत्री जयवीर सिंह ने ट्रामा सेंटर और जिला अस्पताल का भ्रमण किया। ट्रामा सेंटर का निरीक्षण किया। एक महिला ने मंत्री से शिकायत की कि उसे बाहर का एक्सरे लिखा गया और कुछ रुपए भी लिए गए हैं। इस पर मंत्री नाराज हो गए और चिकित्सक पर कार्रवाई के निर्देश दिए। हिदायत दी कि किसी भी दशा में बाहर की दवाएं और इंजेक्शन आदि नहीं लिखा जाना चाहिए, वरना कार्रवाई की जाएगी। 

जिला अस्पताल में मरीज से बात करते मंत्री जयवीर सिंह

जिला अस्पताल के निरीक्षण के दौरान सबसे पहले मंत्री ट्रामा सेंटर पहुंचे, वहां पर खाईंपार की रहने वाली अमृता निषाद छत से गिरकर चोटहिल हो गई थी। ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक ने तीमारदारों को बाहर से एक्सरे कराए जाने की पर्ची थमा दी थी। पर्ची देख मंत्री काफी खफा हुए। उन्होंने चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद मंत्री ने ट्रामा सेंटर के वार्डों का निरीक्षण किया। इसके बाद वह महिला वार्ड पहुंचे। वहां पर भर्ती महिला मरीजों से पूछतांछ की। कहा कि दवाएं और खाना समय से मिलता है या नहीं, महिलाओं ने हां में जवाब दिया। इसी तरह पुरुष वार्ड में भर्ती सुल्तान सिंह पिपरहरी जो क्षय रोग से ग्रसित था, उसे भी दवा और इलाज के बारे में जानकारी ली। कहा कि दवा से ज्यादा परहेज है। छिपटहरी निवासी रामसागर से मंत्री ने पूछतांछ की। दवाओं और भोजन मिलने के बारे में जानकारी ली। वहीं मारपीट में घायल मवई गांव निवासी राकेश सिंह और बबेरू के टोलाकलां गांव निवासी सरोज सिंह से दवा और भोजन मिलने के बारे में पूछतांछ की। राकेश सिंह का कहना था कि उसके साथ मारपीट हुई है, लेकिन रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को रिपोर्ट दर्ज कराए जाने के निर्देश दिए। वहीं सरोज सिंह ने बताया कि वह दुर्घटना में घायल हो गया था, उसकी भी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है। इस मामले को पुलिस अधीक्षक अभिनंदन ने संज्ञान में लिया और रिपोर्ट दर्ज कराए जाने का आश्वासन दिया। मंत्री श्री सिंह पुरुष वार्ड का निरीक्षण करने के बाद बच्चा वार्ड पहुंच गए। वहां डायरिया पीड़ित भर्ती सोमेश वाजपेयी के परिजनों ने चिकित्सकों पर आरोप लगाया कि चिकित्सकों ने बाहर से दवाएं मंगवाई हैं। सफाई व्यवस्था पर भी मंत्री ने नाराजगी जताई। कहा कि सफाई व्यवस्था बेहतर नहीं है। उन्होंने कहा कि कोई भी चिकित्सक मरीजों को बाहर की जांच और दवाइयां नहीं लिखेगा। वरना उस पर कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद मंत्री श्री सिंह ने जिला अस्पताल परिसर में स्थित आक्सीजन प्लांटों का निरीक्षण किया। निरीक्षण दौरान सांसद आरके सिंह पटेल, सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी, आयुक्त दिनेश कुमार सिंह, पुलिस महानिरीक्षक एसके भगत, जिलाधिकारी अनुराग पटेल, एसपी अभिनंदन के अलावा उप जिलाधिकारी, सिटी मजिस्ट्रेट, सूचना विभाग से शारदा निषाद आदि लोग मौजूद रहे। इधर, जिला अस्पताल में तैनात आउट सोर्सिंग अवनी परिधि के कर्मचारियों को आठ महीने से मानदेय नहीं मिला है, वहीं अन्य कर्मचारियों को भी कई-कई महीनों से मानदेय नहीं मिल पा रहा है। यहां तक कि स्वीपरों को भी तीन महीने से मानदेय नहीं दिया गया। मानदेय न मिलने के कारण सभी कर्मचारी हलाकान हैं। यहां तक कि कर्मचारी कर्ज लेकर अपना काम चला रहे हैं। सीएमएस एसएन मिश्र ने भी कई बार शासन तक पत्र लिखा, लेकिन उसका भी कोई जवाब नहीं मिला। बजट न आने से कर्मचारियों को मानदेय नहीं मिल पा रहा है। इस पर निरीक्षण को आए कैबिनेट मंत्री से कुछ मीडिया कर्मियों ने मानदेय के मामले में सवाल दागे। मंत्री जी का जवाब था कि अभी वह भ्रमण पर आए हैं, आगे की कार्रवाई की जाएगी। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages