कंस वध और रुकमिणी विवाह की सुनाई कथा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, May 29, 2022

कंस वध और रुकमिणी विवाह की सुनाई कथा

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। सदर ब्लाक क्षेत्र के ग्राम बिहारा में चल रही संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के छठवें दिन भागवताचार्य नवलेश दीक्षित महाराज ने कंस वध व रुकमणी विवाह कथा का रसपान कराया। बताया कि भगवान विष्णु के पृथ्वी लोक में अवतरित होने के प्रमुख कारण थे। जिसमें एक कारण कंस वध भी था। कंस के अत्याचार से पृथ्वी त्राहि त्राहि जब करने लगी तब लोग भगवान से गुहार लगाने लगे। तब कृष्ण अवतरित हुए। कंस को यह पता था कि उसका वध श्रीकृष्ण के हाथों ही होना निश्चित है। इसलिए उसने बाल्यावस्था में ही श्रीकृष्ण को अनेक बार मरवाने का प्रयास किया, लेकिन हर प्रयास भगवान के सामने असफल साबित होता रहा। 11 वर्ष की अल्प आयु में कंस ने अपने प्रमुख अकरुर के द्वारा मल्ल युद्ध के बहाने कृष्ण, बलराम को मथुरा बुलवा कर शक्तिशाली योद्धा और पागल हाथियों से कुचल कर मारने का प्रयास किया, लेकिन वह सभी श्रीकृष्ण और बलराम के हाथों मारे गए और अंत में श्रीकृष्ण ने अपने मामा कंस का वध कर मथुरा नगरी को कंस के अत्याचारों से मुक्ति दिला दी। कंस वध के बाद श्रीकृष्ण ने अपने माता-पिता वसुदेव और देवकी को जहां कारागार से मुक्त कराया, वही कंस के द्वारा अपने पिता उग्रसेन महाराज को भी बंदी बनाकर कारागार में रखा था, उन्हें भी श्रीकृष्ण ने मुक्त कराकर मथुरा के सिंहासन पर बैठाया।

कथा सुनाते भागवताचार्य।

उन्होंने बताया कि रुकमणी जिन्हें माता लक्ष्मी का अवतार माना जाता है। वह विदर्भ साम्राज्य की पुत्री थी जो विष्णु रूपी श्रीकृष्ण से विवाह करने को इच्छुक थी, लेकिन रुकमणी जी के पिता व भाई इससे सहमत नहीं थे। जिसके चलते उन्होंने रुकमणी के विवाह में जरासंध और शिशुपाल को भी विवाह के लिए आमंत्रित किया था। जैसे ही यह खबर रुकमणी को पता चली तो उन्होंने दूत के माध्यम से अपने दिल की बात श्रीकृष्ण तक पहुंचाई और काफी संघर्ष हुआ। युद्ध के बाद अंततः श्री कृष्ण रुकमणी से विवाह करने में सफल रहे। इस मौके पर बाबूलाल मिश्रा, राम नरेश मिश्रा, रमाकांत मिश्रा, श्याम लाल द्विवेदी, भोले राम शुक्ला, मनीष मिश्रा, उदयभान द्विवेदी, विकास शुक्ला, सूर्यभान पांडेय, रिंकू, पिंटू आदि श्रोतागण मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages