भारतीय संस्कृति की अमूल्य व अनुपम विरासत है योग - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, May 13, 2022

भारतीय संस्कृति की अमूल्य व अनुपम विरासत है योग

 

बड़ोखर बुजुर्ग में योगोत्सव काउंटडाउन कार्यक्रम का हुआ आयोजन

पेंटिंग व प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में हुए पुरस्कृत 25 छात्र

बांदा, के एस दुबे । पूरे विश्व में 21 जून को मनाए जाने वाले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस-2022 से पूर्व आज बड़ोखर बुजुर्ग स्थित राजकीय हाईस्कूल में योगोत्सव काउंटडाउन (उलटी गिनती) कार्यक्रम का आयोजन कर लोगों को योग दिवस पर व्यापक स्तर पर योग करने व स्वस्थ रहने के लिए जागरूक किया गया।

क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार, बांदा द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में योग विषय पर पेंटिंग व प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन कर 25 बच्चों को पुरस्कृत किया गया। साथ ही योग गुरु उदय


भान नामदेव ‘योगी’ के दिशा-निर्देशन में बच्चों ने विभिन्न यौगिक क्रियाओं का अभ्यास भी किया। कार्यक्रम में अपने संबोधन में क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी गौरव त्रिपाठी ने कहा कि इस वर्ष 21 जून को विश्व भर में 8वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा। आज से 39 दिन शेष हैं। इस साल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022 अभियान दुनिया भर में 21 जून 2022 तक 100 दिनों, 100 शहरों और 100 संगठन के विषय पर केंद्रित है। वहीं इस वर्ष आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए यह 75 ऐतिहासिक विरासत या प्रतिष्ठित सांस्कृतिक स्थलों पर योग का प्रदर्शन किया जाएगा। इसमें न केवल भारत बल्कि दुनिया भर में होने वाले योग प्रदर्शन, कार्यशालाएं और संगोष्ठी शामिल हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 जून 2015 को प्रथम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का उद्घाटन किया था। योग को विश्व स्तर पर मनाने का उद्देश्य वैश्विक स्वास्थ्य और कल्याण प्राप्त करना है। गौरतलब है कि कोविड महामारी से निपटने के लिए योग एक मजबूत अस्त्र है। इसलिए हम सब को घर पर योग का नियमित अभ्यास करते रहना चाहिए। भारत में उत्पन्न हुआ योग लगभग 6000 साल पुराना शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक अभ्यास है। लोगों को बच्चों को योग अवश्य सिखाना चाहिए। विद्यालय की प्रधानाचार्या डॉ शशि मिश्रा ने कहा कि योग भारतीय संस्कृति की अमूल्य व अनुपम विरासत है। मनुष्य के अच्छे स्वास्थ्य का आधार है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूरदर्शी सोच का परिणाम है कि आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस एक वैश्विक उत्सव के रूप में मनाया जाता है। योग हमें नकारात्मकता से दूर रखता है साथ ही मन में अच्छे विचार भी पैदा करता है। हम सब को स्वस्थ भारत के निर्माण में भागीदार बनाना चाहिए। 

इस अवसर पर योग गुरु उदय भान नामदेव ने कहा कि कोविड महामारी से लड़ने में भी योग एक महत्वपूर्ण शक्ति बना है। योग करने से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहती है।कार्यक्रम में आयोजित पेंटिंग प्रतियोगिता के विजयी छात्र थे मोनू, खुशी देवी, आरती, नम्रता, अंजू, संध्या, अभिलाषा, रोशनी, कृष्णा सिंह, पूजा देवी, सपना, प्रांशी यादव, आराधना, अनमोल व अंतिका सिंह। वहीं अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के विजयी छात्र रहे लखन, सीता, रोशनी, वैष्णवी, अरविंद, अमिता, शोभित, कोमल, माधुरी व अमित कुमार।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages