हाथों में मेंहदी लगाए बैठी रही दुल्हन, दहेज लोभी नहीं लाए बारात - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, May 18, 2022

हाथों में मेंहदी लगाए बैठी रही दुल्हन, दहेज लोभी नहीं लाए बारात

अतिरिक्त दहेज में दो लाख नकद, बुलेट बाइक व सोने की भारी चेन की मांग 

पीड़ित परिवार ने डीएम को शिकायती पत्र सौंप न्याय दिलाए जाने की लगाई गुहार

फतेहपुर, शमशाद खान । हथगाम थाना क्षेत्र के ग्राम पीर मोहम्मदपुर में एक ऐसा मामला सामने आया जिसमें विवाह वाले दिन दूल्हे ने मोबाइल पर दुल्हन से अतिरिक्त दहेज की मांग कर डाली। जब अतिरिक्त दहेज देने में असमर्थता जताई तो दहेज लोभियों ने बारात लाने से इंकार कर दिया। विवाह की सभी तैयारियों पर पानी फिर गया और हाथों में मेंहदी लगाए दुल्हन अपने सपनों के राजकुमार का इंतजार करती रह गई। दुल्हन की आंखों से आंसू निकल पड़े और वह बदहवास हो गई। पीड़ित परिवार ने थाने में शिकायत दर्ज कराने के बाद जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है। 

डीएम को शिकायती पत्र देने जाता पीड़ित परिवार।

कन्या फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मो. आसिफ एडवोकेट के साथ ग्राम पीर मोहम्मदपुर थाना हथगाम निवासी सहाना बानो पुत्री मो. अय्यूब ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर बताया कि उसका विवाह लगभग दो वर्ष पूर्व अशरफ पुत्र असलम निवासी ग्राम भिटौरा के साथ तय हुई थी। उसकी उम्र कम होने के कारण दो वर्ष बाद 17 मई को निकाह होना सुनिश्चित हुआ था। विवाह में समय काफी होने पर अशरफ अक्सर उससे फोन पर बात करता था। धीरे-धीरे शादी का समय नजदीक आ गया और 17 मई को उसकी बारात आनी थी। बारात की सारी तैयारियां परिवारीजनों ने पूरी कर ली थी। घर पर रिश्तेदार नातेदार भी आ गए थे। खाना-पानी भी तैयार हो गया था। तभी अशरफ ने फोन करके कहा कि उसे दो लाख रूपए नकद, बुलेट मोटरसाइकिल व सोने की भारी चेन चाहिए। ये सब अगर दे सको तो बताओ नहीं तो शादी नहीं होगी। जब ये बात उसके पिता को पता चली तो अशरफ के मामा नूर मोहम्मद से बात की तो वह भी अशरफ की बातों का समर्थन कर रहे थे और अतिरिक्त दहेज न देने पर बारात लाने से इंकार कर दिया। अचानक शादी से मना करने पर वह व उसके परिवार के आत्मसम्मान को ठेंस पहुंची है। उसको समाज में बेइज्जत किया गया। जिससे वह और उसका परिवार सदमें में है। पीड़िता ने जिलाधिकारी से उचित कानूनी कार्रवाई करवाए जाने की गुहार लगाई है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages