बरसात से पहले पक्के पुलों का निर्माण पूरा कराने में जुटी मशीनरी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, May 7, 2022

बरसात से पहले पक्के पुलों का निर्माण पूरा कराने में जुटी मशीनरी

नौबस्ता-तीर का पुरवा घाट में गंगा नदी पर वर्ष 2019 से बन रहा पक्का पुल

विभागीय अधिकारियों का दावा जून 2022 तक पक्का पुल बनकर हो जाएगा तैयार

खागा/फतेहपुर, शमशाद खान । हुसैनगंज व खागा विधानसभा क्षेत्र के दर्जनों गांवों को रायबरेली, प्रतापगढ़ तथा प्रदेश की राजधानी लखनऊ से जोड़ने में सहायक गंगा नदी का पक्का पुल आगामी जून महीने तक बनने का दावा किया जा रहा है। विभागीय अधिकारियों का कहना था कि पक्के पुल में आठ पिलर के ऊपर स्लैब व रेलिंग का काम शेष बचा है। एप्रोच तैयार करने का काम बेहद तेजी से चल रहा है।

निर्माणाधीन पुल।

सुल्तानपुर घोष थाने के नौबस्ता व रायबरेली जनपद के तीर का पुरवा घाट पर निर्माणाधीन पक्का पुल का काम बीते तीन साल से चल रहा है। गंगा नदी पर राज्य सेतु निगम पक्का पुल निर्माण कर रहा है। 8 मार्च 2019 से चल रहे पक्का पुल निर्माण को बहुत जल्द पूरा करके वाहनों का आवागमन शुरु किया जाएगा। 85 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पक्का पुल का निर्माण समाप्त होने के बाद खागा, हथगाम, प्रेमनगर, छिवलहा आदि क्षेत्र के लोगों को रायबरेली, प्रतापगढ़ व लखनऊ तक का सफर करने में आसानी होगी। 1064 मीटर लंबाई वाला पक्का पुल 36 पिलर के ऊपर खड़ा होगा। विभाग ने अब तक 35 पिलकर बनाकर तैयार कर दिए। बीम व स्लैब का काम भी दिन-रात जारी है। विभागीय अधिकारियों का प्रयास है कि बरसात से पहले पुल का काम समाप्त कर लिया जाए। उधर यमुना नदी पर किशुनपुर कस्बा व बांदा जनपद के दांदो घाट पर निर्माणाधीन पक्का पुल का काम भी आखिरी दौर पर है। बांदा जनपद की ओर विभाग ने एप्रोच बनाना शुरु कर दिया। किशुनपुर कस्बा की ओर तीन पिलर का काम शेष रह गया था। उसे भी बेहद तीव्र गति से समाप्त करने का प्रयास जारी है। स्थानीय लोगों का कहना था गंगा व यमुना नदी पर निर्माणाधीन पक्के पुलों का काम पूरा होने के बाद बुंदेलखंड से प्रदेश की राजधानी के मध्य आवागमन सुलभ होने के साथ ही व्यापारिक दृष्टिकोण से लाभ होगा।

वर्जन- 

जून 2022 तक नौबस्ता पक्का पुल का निर्माण कार्य समाप्त किया जाएगा। पुल बनने से क्षेत्र के लोगों को सहूलियत मिलेगी। खागा तहसील के लोगों को पक्के पुल से रायबरेली और लखनऊ का सुगम रास्ता मिलता- पीसी वर्मा, प्रोजेक्ट मैनेजर सेतु निगम।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages