लोक अदालत में 17138 वादों का हुआ निस्तारण - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, May 15, 2022

लोक अदालत में 17138 वादों का हुआ निस्तारण

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन न्यायालय में जनपद न्यायाधीश की अध्यक्षता में संपन्न हुआ।

जनपद न्यायाधीश राधेश्याम यादव ने तीन सिविल, छह फौजदारी वाद का निस्तारण आपसी सुलह समझौते के आधार पर किया। परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश रामकृपाल प्रधान ने 31 वादों का निस्तारण करते हुये दो लाख 20 हजार पांच सौ रुपए प्रतिकर के रूप में दिलाया। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रथम रवीन्द्र कुमार श्रीवास्तव ने एक सिविल वाद, विशेष न्यायाधीश एससी एसटी एक्ट सतीशचन्द्र द्विवेदी ने दो फौजदारी प्रकीर्ण वाद, चतुर्थ अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश दीप नारायण तिवारी ने अन्तिम रिपोर्ट के 30 वाद, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश एफटीसी विनीत नारायण तिवारी ने दो अन्य वादों का निस्तारण किया। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संजय कुमार ने 1008 फौजदारी वादों का निस्तारण करते हुये दो लाख 23 हजार 850 रूपये अर्थदण्ड किया। सिविल जज सी.डि. अरुण कुमार ने एक उत्तराधिकार बाद, दो प्रकीर्ण वाद निस्तारित करते हुये नौ लाख 88 हजार 671 रुपए का उत्तराधिकार प्रमाण पत्र, 12 फौजदारी वादों का निस्तारण करते हुये 240 रूपये अर्थदंड वसूला है। सिविल जज सी.डि. एफटीसी प्रवीण कुमार ने 132 फौजदारी वादों का निस्तारण कर 2640 रूपये, पांच एनआई एक्ट के वाद निस्तारित कर आठ लाख 47 हजार नौ सौ रूपये, एक अन्य सिविल वाद निपटारा करते हुए एक लाख 94 हजार 540 रूपये, 12 अन्य प्रकार के वादों का निस्तारण कर 240 रूपये अर्थदंड वसूला है। सिविल जज जू.डि. वसुन्धरा शर्मा ने 10 मूलवाद, तीन घरेलू हिंसा, 36 फौजदारी वाद निस्तारित करते हुए सात लाख 226 रूपये अर्थदण्ड वसूले हैं। न्यायिक मजिस्ट्रेट संघमित्रा ने 71 फौजदारी वादों का निस्तारण करते हुये 710 रूपये अर्थदंड, सिविल जज जू.डि. प्रशान्त मौर्या जेएम मऊ ने 110 वादों का निस्तारण करते हुये छह लाख चार हजार रूपये अर्थदंड वसूले है। प्री लिटिगेशन स्तर के मामले 15060 वादों का निस्तारण किया गया। सभी बैंकों ने 596 प्री लिटिगेशन के वाद निस्तारित किए हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की पूर्णकालिक सचिव विदुषी मेहा ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में आपसी सुलह समझौते के आधार पर कुल 17138 मुकदमों का निस्तारण किया गया है।

शुभारंभ करते जिला न्यायाधीश।

राजस्व न्यायालयों में निपटाए गए वाद

चित्रकूट। जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल के निर्देशों के तहत तहसील कर्वी, मानिकपुर, मऊ व राजापुर में शनिवार को राजस्व न्यायालयो में ’राष्ट्रीय लोक अदालत’ का आयोजन किया गया। जिसमें 543 राजस्व, 195 चकबंदी, 591 फौजदारी वादों का पक्षकारों की सहमति से निस्तारण कराया गया। लोक अदालत को अधिक प्रभावी बनाने के लिए जिला प्रशासन ने अनूठी पहल की है। राष्ट्रीय लोक अदालत की विशेषता यह रही कि पक्षकारों की सहमति से न केवल वादों का निस्तारण कराया गया बल्कि वादों में पारित निर्णय का खतौनियों में तत्काल अंकन कराकर उनकी प्रतियों को भी वादकारियो को वितरित की गई है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages