रोजा इफ्तार में मुल्क की तरक्की के लिए उठे हाथ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, April 29, 2022

रोजा इफ्तार में मुल्क की तरक्की के लिए उठे हाथ

सूफी खानकाह एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष के आवास पर हुआ आयोजन

फतेहपुर, शमशाद खान । सूफी खानकाह एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं मुराइनटोला मुहल्ला निवासी शब्बीर वारसी के आवास पर रोजा इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में रोजेदारों ने शिरकत कर मुल्क की तरक्की, अम्नो अमान एवं भाईचारे की अल्लाह तआला से दुआएं मांगी। रोजेदारों ने विभिन्न व्यंजनों का लुत्फ भी उठाया। 

रोजा इफ्तार पार्टी में शामिल रोजेदार।

रोजा इफ्तार पार्टी के आयोजन को लेकर सुबह से ही तैयारियां शुरू कर दी गई थीं। निर्धारित समय से पहले ही रोजेदारों का आयोजन स्थल पर पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया था। मगरिब की अजान होते ही रोजेदारों ने खजूर से रोजा खोला तत्पश्चात विभिन्न पकवानों का लुत्फ उठाया। तत्पश्चात आयोजन स्थल पर ही मौलाना ने नमाज अदा कराई। नमाज के बाद दुआ में सभी लोगों ने मुल्क की तरक्की, बेहतरी के साथ ही आपसी भाईचारे की दुआएं अल्लाह तआला से मांगी। एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष शब्बीर वारसी ने कहा कि रमजान के रोजे रखना हर मुसलमान पर फर्ज है। रोजे रखने के साथ-साथ अल्लाह तआला ने साहिबे निसाब पर जकात एवं फितरा भी फर्ज किया है। उन्होने कहा कि जकात जरूरतमंद को ही दें। ऐसी तंजीमों को जकात की रकम न दें जिनका ताल्लुक विदेशों से है। उन्होने यहां तक कहा कि उन मदरसों को भी जकात की रकम न दें जो विदेशी तंजीमों से जुड़े हुए हैं। जकात की रकम का असली हकदार आपके परिवार का परेशानहाल व्यक्ति है। परिवार के अलावा पड़ोसी भी इसका हकदार है। उन्होने मुस्लिम समुदाय का आहवान किया कि जकात एवं फितरे की रकम ईद की नमाज से पहले जरूरतमंदों तक पहुंचा दें। पड़ोसी को भूखा न सोने दें। उसकी जरूरत का भी ख्याल रखें। इस मौके पर मौलाना कारी नूरी, हसीब, सैय्यद वारसी, सलीम वारसी, इरशाद, दिलशाद, आरिफ, मन्नू, शाहरूख सहित तमाम रोजेदार मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages