वैक्सीनेशन : प्रीकाशन डोज की प्रगति खराब पाए जाने पर डीएम खफा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, April 30, 2022

वैक्सीनेशन : प्रीकाशन डोज की प्रगति खराब पाए जाने पर डीएम खफा

कार्यों में प्रगति लाए जाने के निर्देश, वरना जिम्मेदार होंगे अधिकारी 

बांदा, के एस दुबे । सभी प्रभारी चिकित्साधिकारी अपने-अपने तैनाती स्थल पर ही निवास करेंगे। यह निर्देश जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने जिला स्वास्थ्य समिति (शासी निकाय) की कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में दिये। बैठक में सबसे पहले विगत बैठक में दिये गये दिशा-निर्देशों की समीक्षा की गई।

बैठक को संबोधित करते जिलातधिकारी अनुराग पटेल

बैठक में बताया गया कि काशीराम कालोनी हरदौली घाट में डा. आशुतोष बिना बताये अनुपस्थित चल रहे हैं जिसमें जिलाधिकारी के द्वारा संविदा समाप्त करने के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये। कोविड वैक्सीनेशन की समीक्षा के दौरान प्रीकाशन डोज में प्रगति खराब पाई गई तथा वैक्सीनेशन 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के जिसमें प्रगति खराब पायी गई। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि इन कार्यों में प्रगति लाई जाए अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित की जिम्मेदारी होगी। इसी प्रकार 12 वर्ष से 14 वर्ष तक आयु वर्ग की समीक्षा की गयी जिसमें प्रगति बढाने के निर्देश दिये। नियमित टीकाकरण की समीक्षा के दौरान नरैनी, जसपुरा तथा तिन्दवारी प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में टीकाकरण की स्थिति बहुत खराब पाई गई। जिसमें सम्बन्धित प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को स्पष्टीकरण दिये जाने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की समीक्षा के दौरान डा. धीरेन्द्र के द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद के सीएचसी एवं पीएचसी में जन सेवा केन्द्रों के द्वारा कार्य में लापरवाही की जा रही है, तो जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि शीघ्र सूची बनाकर दी जाए तथा समस्त सीएचसी एवं पीएचसी में दी जा रही सभी सुविधाओं की रेट लिस्ट लगाई जाए जिससे जनता से कोई अनावश्यक वसूली न की जा सके। उन्होंने कहा कि मोबाइल नम्बर भी अंकित किया जाए जिससे शिकायत की जा सके। इसी प्रकार जननी सुरक्षा योजना की समीक्षा के दौरान नरैनी, महुआ, बिसण्डा की स्थिति खराब पाई गई तथा नरैनी में तैनात महिला स्टाफ नर्स फूलमती को जो कार्य में लापरवाही किये जाने पर जिलाधिकारी ने तत्काल हटाये जाने के निर्देश दिये। आशा चयन की समीक्षा के दौरान पाया गया कि 38 आशाओं का चयन ग्रामीण क्षेत्रों के प्राथमिक, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में अभी तक नही किया गया जिनकों तत्काल चयन कर अवगत कराने के निर्देश दिये। आशा भुगतान की समीक्षा के दौरान पाया गया कि कमासिन ब्लाक के एमओआईसी के द्वारा आशाओं का पेमेन्ट नही किया गया जिनको शीघ्र पेमेन्ट करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान, एक कदम सुरक्षित मातृत्व की ओर तथा प्रधानमंत्री मातृत्व वन्दना योजना, परिवार नियोजन, मिशन इन्द्रधनुश, आरबीएसके, आरसीएच पोर्टल में फीडिंग कम पाये जाने वाले को स्पष्टीकरण के निर्देश दिये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी वेद प्रकाश मौर्य, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी आरएन प्रसाद, जिला अस्पताल महिला की अधीक्षिका सुनीता सिंह, जिला अस्पताल पुरूष अधीक्षक एसएन मिश्रा सम्बन्धित विभाग के डाक्टर सहित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages