भगवान भास्कर का कहर जारी, जनजीवन अस्त व्यस्त - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, April 28, 2022

भगवान भास्कर का कहर जारी, जनजीवन अस्त व्यस्त

फतेहपुर, शमशाद खान । पड़ रही प्रचंड गर्मी मे लोगों को बेचैन कर दिया है तो वैसे ही भगवान भास्कर अपना कहर दिन प्रतिदिन बरपा रहे हैं। हर दिन बढ़ते तापमान से इंसान ही नहीं पशु पक्षी भी बेहाल हो उठे हैं। जनजीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त होने लगा है। गुरूवार को 45 डिग्री सेल्सियस तक तापमान पहुंच गया। जिसकी तपिश से आवाम को गर्मी ने हाय तौबा करा दिया। गर्मी के चलते जनजीवन सहित पशु पक्षी भी बेहाल हो गए हैं। कडी धूप के निकलते ही मार्गों पर सन्नाटा पसर जाता है। जरूरमंद ही घर से बाहर निकले लोग धूप से बचने के लिए तरह-तरह के उपाए किए। रिक्शा चालक जहां पेड की छांव के नीचे आराम करते देखे गए वहीं बाइक व साइकिल से सफर करने वाले लोग अपने शरीर को ढके दिखे। गर्मी अपना प्रचंड रूप दिखा रही है। सुबह से सूरज निकलने के साथ ही धूप की तेजी लोगों को बेचैन करने लगती है। जैसे-जैसे दिन चढता है वैसे-वैसे धूप की तेजी के साथ ही गर्म हवाएं चलने लगती है। जो थपेडो की तरह लगती हैं। घर से बाहर निकलने पर धूप की तेजी इस तरह से शरीर पर असर करती है कि जैसे शरीर पर जलन हो रही है और चुभन हो रही है। धूप से बचने के लिए ही लोग दोपहर में न के

धूप से बचने के लिए मुंह ढके व छतरी लगाए रिक्शे पर सवार महिलाएं।

बराबर बाहर निकलते हैं। जिसके चलते दोपहर में मार्गों पर सन्नाटा पसरा रहता है। शहर के मुख्य बाजार चौक में खरीददारी करने के लिए शहर के ही नही बल्कि दूर-दराज के लोग भी आते हैं लेकिन गर्मी के चलते चौक बाजार व लाला बाजार में वह रौनक नहीं दिखाई दे रही है। गर्मी के चलते दोपहर सन्नाटा पसरा रहता है। सुबह शाम ही लोगो की चहल कदमी मार्गों पर रहती है। धूप की तेजी के चलते रोजमर्रा की जिंदगी जीने वाले प्रभावित हो रहे हैं। रिक्शा चालक पेट की रोटी के चलते तो गांवो से शहर आ जाते है लेकिन गर्मी के कारण बीच-बीच में वह भी अपना रिक्शा खडा कर जहा पेड़ की छांव दिखती है वहीं आराम करते हैं। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages