स्वास्थ्य टीमें बीमारियों की रोकथाम को बढ़ाएंगी जागरूकता - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, April 2, 2022

स्वास्थ्य टीमें बीमारियों की रोकथाम को बढ़ाएंगी जागरूकता

मच्छरों पर वार को शुरू हुआ संचारी रोग नियंत्रण अभियान 

वाहन रैली निकालकर किया गया जागरूक 

बांदा, के एस दुबे । संचारी रोग नियंत्रण अभियान के दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव-गांव पहुंचकर वेक्टर जनित बीमारियों के रोकथाम के लिए जागरुकता बढ़ाएगी। शनिवार को मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय परिसर विधायक प्रतिनिधि रजत सेठ ने हरी झंडी दिखाकर अभियान की शुरूआत कराई। वाहन रैली निकालकर लोगों को जागरूक किया। 

विधायक प्रतिनिधि ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा संचारी रोग नियंत्रण अभियान की सफलता के कारण वेक्टर जनित रोग जैसी प्राणघातक बीमारियों में काफी कमी आई है। सरकारी विभागों द्वारा बीमारियों पर लोगों की जागरूकता बढ़ाई जाने के लिए अभियान शुरू हुआ है। जिला मंत्री रमेश गुप्ता ने भी संबोधित किया। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. संजय कुमार शैवाल ने बताया कि पूरे प्रदेश में संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ किया गया है जो 30 अप्रैल तक चलेगा। कहा कि लोग घरों में साफ-सफाई रखें, जल जमाव न होने दें, सोते समय मच्छरदानी का प्रयाग करें। कहा कि किसी को बुखार होता है तो तत्काल इलाज के लिए नजदीकी सरकारी अस्पताल में जांच कराएं। 

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. आरएन प्रसाद ने कहा कि संचारी रोग अभियान को सफल बनाने के लिए जनपद के सभी नागरिकों का साथ चाहिए। 15 से 30 अप्रैल तक दस्तक अभियान चलेगा। इसमें स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर बीमार लोगों के बारे में जानकारी लेगी और 12 साल से अधिक आयु के जिन लोगों को कोविड टीका नहीं लगा है, उन्हें कोविड टीका से प्रतिरक्षित किया जाएगा। इस मौके पर एसीएमओ डा. मनोज कौशिक, जिला मलेरिया अधिकारी पूजा अहिरवार, यूएचसी प्रेमचंद्र पाल, आरआई राधा शर्मा, प्रदीप कुमार, भावना वर्मा सहित पैरामेडिकल कालेज के छात्र-छात्राएं सहित स्टाफ मौजूद रहा। 

अभियान का शुभारंभ करते सदर विधायक प्रतिनिधि रजत सेठ

कुपोषित भी होंगे चिन्हित 

बांदा। अभियान के दौरान आशा, आंगनबाड़ी और संगिनी कार्यकर्ता घर-घर जाकर कुपोषित और अति कुपोषित बच्चों की सूची बनाएंगी। फिर यह सूची एएनएम के जरिए ब्लाक मुख्यालय पर भेजी जाएगी। बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग कुपोषित व अति कुपोषित बच्चों को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से पोषण पुनर्वास केंद्रों पर उपचार एवं पोषण उपलब्ध कराता है।  

अन्य विभाग भी करेंगे मदद

बांदा। जिला मलेरिया अधिकारी पूजा अहिरवार ने बताया कि चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग, नगर पंचायत विकास, पंचायती राज, ग्राम्य विकास विभाग, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन विभाग, कृषि एवं सिचाई विभाग, सूचना और उद्यान विभाग की सहभागिता रहेगी। सभी विभागों को जिम्मेदारियां सौंप दी गई है। जहां भी मच्छर पनपने की संभावना होगी। वहां निरोधात्मक कार्रवाई की जाएगी


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages