दंपति ने फांसी लगाकर दी जान, पांच बच्चे हुए अनाथ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, April 8, 2022

दंपति ने फांसी लगाकर दी जान, पांच बच्चे हुए अनाथ

विवाद में पत्नी-पत्नी ने घटना को दिया अंजाम 

फतेहपुर, शमशाद खान । जहानाबाद थाना क्षेत्र में मामूली विवाद में महिला ने फांसी लगाकर जान दे दी। पत्नी की मौत से आहत युवक ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने दंपत्ति के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है।

घटनास्थल पर मौजूद पुलिस बल व भीड़।

जानकारी के मुताबिक थाना क्षेत्र के पंथू सिंह का पुरवा मजरे कपिल गांव निवासी राजेन्द्र निषाद की पत्नी सीमा बीते बुधवार को बेटे आशीष के साथ कानपुर के घाटमपुर अपने मायके चली गई थी। गुरुवार की दोपहर सीमा जब वापस ससुराल लौटी तो किसी बात को लेकर दोनों के बीच कहासुनी होने लगी। इस दौरान राजेन्द्र ने गुस्से में आकर सीमा के साथ मारपीट की। पिटाई से आहत पत्नी सीमा ने गुरुवार की रात घर मे फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। देर रात राजेन्द्र की नींद खुली तो पत्नी को फंदे से लटका देख स्तब्ध रह गया। इसके बाद राजेन्द्र चुपचाप घर से निकल गया। सुबह खेतों की तरफ गए ग्रामीणों ने गांव के बाहर पीपल के पेड़ में राजेंद्र के शव को फांसी के फंदे पर लटका देखा तो हड़कंप मच गया। ग्रामीणों से मिली घटना की जानकारी पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने दंपत्ति के शवों को फंदे से नीचे उतारा और पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एक साथ पति-पत्नी की मौत से पूरे गांव में मातम छा गया। सीओ बिंदकी योगेन्द्र मालिक ने बताया कि पति-पत्नी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है, दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजकर आगे की विधिक कार्रवाई की जा रही है।

मामूली विवाद में उजड़ गया संसार

फतेहपुर। जहानाबाद थाना क्षेत्र के पंथु का पुरवा मजरे कपिल गांव में पत्नी के फांसी लगाकर जान देने के बाद पति के फांसी लगाने का कारण हर किसी के गले नहीं उतर रहा है। घरवाले पत्नी की मौत की वजह पति से विवाद बता रहे हैं। वहीं पत्नी की मौत से आहत होकर पति के फांसी लगाने की ग्रामीणों में चर्चा रही। मां-बाप की मौत के बाद बेटी ज्योति, रेशमा, कल्पना, नेहा और बेटे आशीष बदहवास दिखे। लोगों का कहना है कि जरा से विवाद में हंसता खेलता संसार उजड़ गया। राजेन्द्र गांव में खेती किसानी कर परिवार के साथ गुजर बसर करता था। राजेन्द्र के परिजनों ने बताया कि गुरुवार को मायके से लौटी सीमा से किसी बात को लेकर हुए विवाद ने परिवार की सारी खुशियां एक झटके में छीन लीं।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages