महोबा पुलिस कप्तान के लिए किसानों ने मांगी भीख - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, April 7, 2022

महोबा पुलिस कप्तान के लिए किसानों ने मांगी भीख

एसपी के खर्च के लिए धन जुटाकर भेजा गया 

सिंधनपुर बघारी के किसानों ने लगाई न्याय की गुहार 

बांदा, के एस दुबे । बुंदेलखण्ड किसान यूनियन के बैनर तले सिंधनपुर बघारी गांव के किसानों ने गुरुवार को मंडल मुख्यालय के चौराहों पर महोबा पुलिस कप्तान के लिए भीख मांगी। भीख मांगकर जुटाई गई धनराशि किसानों ने महोबा एसपी के खर्च के लिए भेजी है। इसके साथ ही कबरई थाने के सिंधनपुर बघारी में अरसे से हो रहे अवैध खनन पर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। 

अशोक स्तंभ चौराहे पर भीख मांगते किसान

बुंदेलखण्ड किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल कुमार शर्मा की अगुवाई में कबरई क्षेत्र के सिंधनपुर बघारी गांव के किसानों ने एसपी महोबा के खर्च के लिए मंडल मुख्यालय के चौराहों पर थाली लेकर भीख मांगी। कहा गया कि सिंधनपुर बघारी में अरसे से अवैध खनन चल रहा हैं लेकिन प्रशासन द्वारा अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। उल्टा विरोध करने वाले किसानों को खामियाजा भुगतान पड़ रहा है। सिंधनपुर बघारी गांव के किसानों पर ही मुकदमा पंजीकृत करके पांच किसानों के चिलाफ चार्जशीट भी पेश की गई। इसीलिए महोबा पुलिस कप्तान को भीख मांगकर पैसा भेजते हुए किसानों ने न्याय की गुहार लगाई है। कहा गया कि किसानों के अगर न्याय नहीं मिला तो किसान आगे भी आंदोलन करते रहेंगे। इस दौरान विमल कुमार शर्मा, श्रवण कुमार शर्मा, अनिल मिश्रा, बालाजी, रामू महाराज, बाबूलाल, मोतीलाल द्विवेदी, देशपाल, प्रमोद यादव, शिवपाल, रामबाबू, नत्थूराम, रामदुलारी, सरोज, सुमित्रा, सावित्री, गायत्री, सियारानी, गोमती, कुसमा, ममता, शांति, शिवकली, अवधेश आदि शामिल रहे। 

आईजी को किसानों ने दिया ज्ञापन, न्याय की गुहार 

बांदा। बुंदेलखंड किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल कुमार शर्मा की अगुवाई में गुरुवार को किसानों ने आईजी को ज्ञापन सौंपा। बताया गया कि बुंदेलखंड किसान यूनियन के बैनर तले पदाधिकारी एवं सिंधनपुर बघारी महोबा के किसान अवैध खनन के विरोध में विगत 122 दिन से अशोक स्तंभ तले क्रमिक अनशन पर बैठे हैं। अवैध खनन का विरोध करने पर थाना कबरई के सिंधनपुर बघारी गांव के किसानों को पत्थर माफिया से सांठगांठ कर महोबा पुलिस ने फर्जी मुकदमा पंजीकृत करके चार्जशीट लगाई है जो कि पूरी तरह से मनगढ़ंत और फर्जी है। किसानों ने आईजी से न्याय की गुहार लगाई है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages