डीएम ने स्वास्थ्य योजनाओं की बिन्दुवार की समीक्षा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, April 8, 2022

डीएम ने स्वास्थ्य योजनाओं की बिन्दुवार की समीक्षा

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की मासिक समीक्षा बैठक जिला कलेक्ट्रेट के सभागार में संपन्न हुई। 

बैठक में डीएम ने वीएचएनडी सत्र के पर्यवेक्षण, विशेष संचारी नियंत्रण, आशा, शहरी आशा, आशा संगिनी, संविदा कर्मियों का वित्तीय वर्ष की स्वीकृति, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री योजना की समीक्षा की। कहा कि प्रधानमंत्री के इस कार्ड को सभी से जोड़ना है। कुछ हास्पिटल को इसमें जोड़े। यहां से कुछ लोग प्रयागराज, सतना जाते हैं तो उन हॉस्पिटलों को इसमें जोड़े। तभी सफलता मिल पाएगी। गर्भवती महिलाओं का चिन्हाकन व उपचार की स्थिति पर उन्होंने एमवाईसी को कहा कि विजिट करें। वहां पर एक-दो घंटे बैठे। तभी काम करेंगे। इसमें रुचि लेने की जरूरत है। एएनसी पंजीकरण, प्रसव, स्-1 सुविधा प्रत्यायन, संस्थागत प्रसव, एफआरयू, संस्थागत प्रसव की तुलनात्मक स्थिति, जेएसवाई लाभार्थियों के भुगतान, मार्च तक पूर्ण टीकाकरण, परिवार नियोजन, स्कूल एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री, स्कूल में बच्चों की स्क्रीनिंग, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, ब्लॉकवार उपलब्धि, सुधार कतार

समीक्षा बैठक में निर्देश देते डीएम।

लंबित, उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य बोर्ड की स्थिति, एएनसी मार्च तक चेकअप, मार्च 2022 तक पीएम एसएमए के तहत एचआरपी की पहचान, मातृ मृत्यु समीक्षा, आशा चयन की स्थिति, रोगी कल्याण समिति, राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम, हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर वर्षवार लक्ष्य, राष्ट्रीय अंधता निवारण कार्यक्रम, राष्ट्रीय कुष्ठ निवारण, राष्ट्रीय वेक्टर वार्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, जन्म मृत्यु पंजीकरण, संस्थागत एवं घरेलू प्रसव, जन्म मृत्यु पंजीकरण क्रमिक उपलब्धि आदि बिंदुओं पर समीक्षा की गई। उन्होंने वित्तीय व्यय विवरण की समीक्षा पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. भूपेश द्विवेदी से कहा कि शासन से जो गाइड लाइन प्राप्त हुई है उसीके अनुसार निर्धारित बिंदु पर धनराशि खर्च किया जाए। जिन प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर कमी है उनकी समीक्षा कर प्रगति बढ़ाई जाए। उन्होंने कहा कि जब हेल्थ केयर वर्कर ही नहीं बैठेंगे तो कार्य नहीं हो पाएगा। इस पर तेजी से कार्य करें। नीति आयोग के मुख्य बिंदुओं को अवश्य निर्धारित किया जाए। ताकि जनपद की रैंकिंग में समस्या न हो। इस अवसर पर एसीएमओ डा इम्तियाज, डीपीआरओ तुलसीराम, बीएसए राजीव रंजन मिश्र सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, कर्मचारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages