डीएम बने सीईओ, संवरेगी श्रीराम की तपोभूमि - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, April 27, 2022

डीएम बने सीईओ, संवरेगी श्रीराम की तपोभूमि

सीएम ने तीर्थ विकास परिषद का गठन कर खाका तैयार करने के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। अयोध्या, काशी की तर्ज पर भगवान श्रीराम की तपोस्थली चित्रकूट का विकास होगा। इसके लिए सीएम ने श्री चित्रकूट तीर्थ विकास प्राधिकरण का गठन कर जिलाधिकारी को सीईओ नामित किया है।

बुधवार को डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ला ने बताया कि प्रभु श्रीराम की तपोस्थली का विकास अयोध्या, काशी की तर्ज पर किया जाएगा। इसके लिए सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने श्री चित्रकूट तीर्थ विकास प्राधिकरण को सक्रिय कर दिया गया है। पूर्व में पर्यटन विभाग के माध्यम से विकास कराए जाते रहे हैं। पर्यटन का क्षेत्र अधिक होने के चलते विकास में विलंब होता था। ऐसे में मुख्यमंत्री ने धार्मिक क्षेत्रों के विकास के लिए अलग प्राधिकरण का गठन कर खुद कमान संभाली है। बताया कि उन्हे सीईओ नामित किया गया है। चित्रकूट के विकास को धार्मिक स्थलों का निरीक्षण कर रूपरेखा तैयार कर भेजेंगें। डीएम ने कहा कि अब तीर्थ विकास परिषद के माध्यम से विकास का

डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ला 

बजट आएगा। यूपी में चित्रकूट व विंध्याचल के विकास के लिए प्रदेश सरकार ने पहल की है। यह प्राधिकरण एकल संस्था की तरह कार्य करेगी। जिसमें योजनाएं बनाने, क्रियान्वयन कराने सहित अन्य कार्य की जिम्मेदारी दी गई है। चित्रकूट तीर्थ स्थान का विकास होने की आस अब अधिक बढ़ गई है। जल्द ही यूपी एमपी के क्षेत्र में बसे चित्रकूट धार्मिक स्थलों का विकास होगा। पहले भी यूपी सरकार चित्रकूट क्षेत्र में तहबजारी व परमिट शुल्क खत्म किया है। जिले के पर्यटन अधिकारी शक्ति सिंह ने बताया कि बनाय गया प्राधिकारण एक एकल संस्था की तरह काम करेगी।

रामघाट का दृश्य।

इन स्थलों का होगा विकास

चित्रकूट। प्राधिकरण से चित्रकूट तीर्थ स्थान के अलावा वाल्मीकि आश्रम, संत तुलसीदास की जन्म स्थली राजापुर, ऋषियन आश्रम, मडफा आश्रम, नांदिन के हनुमान मंदिर, लैना बाबा तीर्थ स्थान, नांदिन के हनुमान तीर्थ स्थल सहित अन्य तीर्थ स्थानों का विकास हो सकेगा।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages