बेदर्द हाकिम लगातार काटते रहे श्वेता की जीवन की डोर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, April 28, 2022

बेदर्द हाकिम लगातार काटते रहे श्वेता की जीवन की डोर

मीडिया के सामने रोते हुए बेटियों ने बयां की कहानी तो आंखों में भर आया पानी 

बेटियों ने कहा : पिता ने मम्मी को मार डाला, बाबा गाली के साथ देते थे बेटा न होने का ताना 

पति, सास और ससुर समेत जेठ के खिलाफ हत्या और अन्य धाराओं में दर्ज की गई रिपोर्ट 

अंतिम संस्कार में जनप्रतिनिधियों के साथ सैकड़ों लोग पहुंचे, पुलिस भी रही मौजूद 

बांदा, के एस दुबे । अपने ही घर में बेदर्द हाकिमों से घिरी रही श्वेता सिंह गौर ने कभी यह जाहिर नहीं होने दिया कि वह इतना दर्द भरे दिन जी रही हैं। हमेशा मुस्कराता हुआ चेहरा ही जनता के सामने आता था। अब श्वेता दुनिया में नहीं हैं तो मामले की परत दर परत खुलती नजर आ रही हैं। गुरुवार को मीडिया के सामने आईं श्वेता की बेटियों ने जो कहानी बयां की तो वहां मौजूद लगभग सभी की आंखें नम हो गईं। मीडिया के सामने फफकते हुए बेटियों ने ने कहा कि उनके पापा ने मम्मी को मार डाला। बाबा भी कम नहीं रहे, वह भी मां को गाली देते थे और यह कहते थे कि एक बेटा भी पैदा नहीं हुआ। बावजूद इसके श्वेता किसी तरह से जीवन के दिन गुजार रही थीं। एक बेटी ने तो यहां तक कहा कि स्कूल जाते समय उसके पापा ने कहा था कि बेटा जब घर लौटकर आओगे, तो तुम्हारी मां मरी हुई मिलेगी। लेकिन अकस्मात उनकी जीवन की डोर टूट गई। यह कैसे हुआ, इसकी जांच पड़ताल की जा रही है। हालांकि मृतका के भाई ओंकार सिंह की तहरीर पर पुलिस ने पति, सास, ससुर और जेठ के खिलाफ हत्या के अलावा दहेज प्रतिषेध अधिनियम के तहत रपट दर्ज कर ली है। 

मीडिया से बात करतीं रोती बिलखती श्वेता की बेटियां

भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की महामंत्री और जसपुरा से जिला पंचायत सदस्य रहीं श्वेता सिंह गौर की मौत की गुत्थी अभी पुलिस सुलझा नहीं पा रही है। हर घड़ी हालात बदलते नजर आ रहे हैं। पुलिस बहुत ही संजीदगी के साथ इस हाईप्रोफाइल मामले की जांच पड़ताल कर रही है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट क्या है, अभी यह जाहिर नहीं किया गया। अलबत्ता मृतका के भाइयों ने खुले तौर पर श्वेता की हत्या किए जाने का आरोप उनके पति पर लगाया है। इधर, गुरुवार को मीडिया के सामने आईं दिवंगत जिला पंचायत सदस्य की बेटियों मित्तो, श्वेता और गौरी ने जो कहानी सबके सामने फफकते हुए बयां की, उसको सुनकर एकबारगी लोगों को यकीन नहीं हुआ, अलबत्ता बेटियों की जुबानी को गलत भी नहीं कहा जा सकता। बेटियों ने कहा कि हमारी मम्मी के साथ परिवार वालों ने बहुत गलत किया है और पापा ने मम्मी को मार डाला। बेटियों का कहना है कि उनके बाबा, दादी और बड़े पापा भी
अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़

मम्मी को प्रताड़ित करते थे और बेटा न पैदा होने का ताना देते थे। बेटियों ने कहा कि बाबा ने कई बार मम्मी को तलाक देने और जान से मार डालने की धमकी तक दी। इसके बाद अंतिम संस्कार को लेकर बातचीत हुई तो श्वेता के भाइयों ने आरोपियों की गिरफ्तारी न होने तक अंतिम संस्कार न किए जाने की बात कहीं बाद में लोगों के समझाने पर अंतिम संस्कार को राजी हुए। बताते हैं कि श्वेता को उनके भाई ने मुखाग्नि दी। सीओ सिटी राकेश कुमार सिंह ने बताया है कि मृतका के भाई आेंकार सिंह की तहरीर पर थाना कोतवाली नगर में पति दीपक सिंह गौर, ससुर राजबहादुर सिंह, सास पुष्पा और जेठ धनंजय सिंह के खिलाफ धारा 302, 498-ए और 3/4 दहेज प्रतिषेध अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। मामले की सघन जांच की जा रही है। गौरतलब हो कि श्वेता की मौत होने के बाद से पति दीपक सिंह फरार चल रहे हैं। उनकी फरारी के कारण तमाम तरह की चर्चाएं हो रही हैं। अंतिम संस्कार के पहले श्वेता के घर पहुंचे राजनीतिक दलों के लोगों ने श्वेता को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान सांसद आरके पटेल, सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी, नरैनी विधायक ओममणि वर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष सुनील पटेल, भाजपा जिलाध्यक्ष संजय सिंह, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जगराम सिंह, भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष वंदना गुप्ता, रामकरन सिंह बच्चन समेत तमाम भाजपा नेता मौजूद रहे। सूबे के जलशक्ति राज्यमंत्री रामकेश निषाद बुधवार शाम पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे और परिजनों को ढांढस बंधाया था। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages