डा.अम्बेडकर की जयंती पर गोष्ठी का आयोजन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, April 15, 2022

डा.अम्बेडकर की जयंती पर गोष्ठी का आयोजन

बांदा, के एस दुबे । गुरूवार को संविधान निर्माता भारत रत्न डा. भीम राव अंबेडकर की 131 वीं जयंती के अवसर पर क्षेत्रीय लोकसंपर्क ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आज क्योटरा स्थित माँ सरस्वती ज्ञान मंदिर, जूनियर हाई स्कूल में एक गोष्ठी का आयोजन कर बाबा साहब के विचारों व आदर्शों पर चर्चा की गई।साथ ही बाबा साहब पर केंद्रित एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन कर 10 बच्चों को विभाग द्वारा पुरस्कृत भी किया गया।


इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री राम विशाल पाल ने कहा कि वर्तमान पीढ़ी इस बात से अनभिज्ञ है कि बाबा साहब अपने समकालीन लोगों में सर्वाधिक शिक्षित व्यक्ति थे। शिक्षा उनके दीर्घकालीन संघर्ष तथा कठोर परिश्रम का परिणाम थी। उनका मानना था कि सामाजिक समरसता का निर्माण करने से ही सामाजिक समानता हो सकती है। उनका कहना था, “मैं चाहता हूं कि लोग सर्वप्रथम भारतीय हों व अंत तक भारतीय रहें, भारतीय के अलावा कुछ भी नहीं”। बाबा साहब डॉ भीम राव अंबेडकर को उनके अविश्वसनीय कामों की वजह से उनके जन्म दिन 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती के रूप में मनाया जाता है। 

कार्यक्रम में अपने सम्बोधन में क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी गौरव त्रिपाठी ने बताया कि डॉ अंबेडकर एक जाने माने राजनेता व प्रख्यात विधिवेत्ता थे। बाबा साहब स्वतंत्र भारत के समाज सुधारक थे। उन्होने देश में सामाजिक असमानता, जाति व्यवस्था को खत्म करने में अति महत्वपूर्ण योगदान दिया। अंबेडकर जयंती का असल उद्देश्य समाज के प्रत्येक सदस्यों के बीच जाति और धर्म के भेदभाव को दूर कर समानता और संतुष्टि की भावना पैदा करना है। 

बाबा साहब स्वतंत्र भारत के संविधान के वास्तुकार थे और देश का कानून बनाने के लिए स्वतंत्र रूप से अवलंबित थे। उन्होने बाल विवाह जैसे अन्य बुरी प्रथाओं के साथ देश के जाति व्यवस्था को समाप्त करने में अपना योगदान दिया।

स्वतंत्र भारत के संविधान का निर्माण उन्होने ही किया था। जिसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया। इसलिए उन्हें आधुनिक भारत का निर्माता कहा जाता है। 1947 में स्वतंत्र भारत के प्रथम कानून और न्याय मंत्री का पद संभाला और भारत के संविधान के निर्माता बने। कार्यक्रम में हुई प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के विजयी छात्र थे स्वाति, अनमोल सोनकर, मानस निषाद, अंकिता पाल, गायत्री वर्मा, सोनू अनुरागी, हर्षिता, अंशिका सिंह, संदीप निषाद और सौरभ।

कार्यक्रम में बाबा साहब के ऊपर गीत सुनाया शिव विशाल सिंह चंदेल व बिहारी लाल तिवारी ने। प्रमुख रूप से उपस्थित लोग थे बाबू राम, हेमंत कुमार, प्रियंका, सुमन, समीक्षा व अन्य।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages